नई पोस्ट करें

लाइफटाइम हाई के करीब पहुंचा Forex reserves, 1.68 अरब डॉलर बढ़कर हुआ 423.55 अरब डॉलर

2022-10-07 05:03:25 561

लाइफटाइमहाईकेकरीबपहुंचाForexreserves168अरबडॉलरबढ़करहुआ42355अरबडॉलरCrime News: चीन से जुड़ी शेल कंपनियों का मास्टरमाइंड भारत से भागने की कोशिश में गिरफ्तार******Highlightsसीरियस फ्रॉड इन्वेस्टिगेशन ऑफिस (SFIO) ने जिलियन कंसल्टेंट्स इंडिया प्राइवेट लिमिटेड के निदेशक डॉर्टसे नाम के एक व्यक्ति को गिरफ्तार किया है। बताया जा रहा है कि वह देश छोड़ने की फिराक में था। SFIO के अधिकारियों ने उसे बिहार से गिरफ्तार किया है। इससे पहले उन्होंने डॉर्टसे के गुरुग्राम, बेंगलुरु और हैदराबाद के ठिकानों पर छापेमारी की कार्रवाई की थी। कॉरपोरेट मामलों के मंत्रालय के अनुसार, डॉर्टसे (अधिकारियों द्वारा बताया गया नाम) एक रैकेट का मास्टरमाइंड है, जिसमें भारत में चीन से जुड़ी शेल कंपनियों को शामिल किया गया है।छापेमारी के बाद आरोपी को किया गया गिरफ्तारमंत्रालय ने एक बयान में बताया कि डॉर्टसे के ठिकानों पर 8 सितंबर को छापेमारी की गई जिसमें जिलियन कंसल्टेंट्स इंडिया प्राइवेट लिमिटेड, गुरुग्राम में जिलियन हांगकांग लिमिटेड की पूर्ण स्वामित्व वाली सहायक कंपनी, बेंगलुरु में फिनिंटी प्राइवेट लिमिटेड और हैदराबाद में एक पूर्व सूचीबद्ध कंपनी हुसिस कंसल्टिंग लिमिटेड शामिल हैं। छापेमारी के बाद आरोपी को गिरफ्तार किया गया। रजिस्ट्रार ऑफ कंपनीज (ROC) के पास दर्ज रिकॉर्ड के अनुसार डॉर्टसे ने खुद को हिमाचल प्रदेश के मंडी का निवासी बताया था।कई शेल कंपनियों में दिखावे के रूप में होता था कामसूत्रों के अनुसार ROC दिल्ली ने जांच के दौरान कई सबूत प्राप्त किए, जो स्पष्ट रूप से कई शेल कंपनियों में दिखावे के रूप में काम करने के लिए जिलियन इंडिया लिमिटेड द्वारा भुगतान किए जा रहे डमी निदेशकों की ओर इशारा करते है। कंपनी की मुहरों से भरे बक्से और डमी निदेशकों के डिजिटल हस्ताक्षर साइट से बरामद किए गए हैं। भारतीय कर्मचारी चाइनीज इंस्टेंट मैसेजिंग ऐप के जरिए चीनी समकक्षों के संपर्क में थे। हुसिस लिमिटेड को भी जिलियन इंडिया लिमिटेड की ओर से काम करते हुए पाया गया। बताया जा रहा है कि हुसिस लिमिटेड का जिलियन हांगकांग लिमिटेड के साथ एक समझौता था।भारत से भागने की फिराक में था आरोपीकॉपोर्रेट मामलों के मंत्रालय ने 9 सितंबर, 2022 को जिलियन कंसल्टेंट्स इंडिया प्राइवेट लिमिटेड और 32 अन्य कंपनियों की जांच एसएफआईओ को सौंपी थी। डॉर्टसे और एक चीनी नागरिक जिलियन कंसल्टेंट्स इंडिया प्राइवेट लिमिटेड में निदेशक हैं। जांच के आधार पर, यह पता चला कि डॉर्टसे दिल्ली-एनसीआर से बिहार भाग गया था और सड़क मार्ग से भारत से भागने का प्रयास कर रहा था, जिसके बाद एसएफआईओ ने एक विशेष टीम गठित की। आधिकारिक सूत्रों ने बताया कि शनिवार को एसएफआईओ ने डॉर्टसे को गिरफ्तार किया। अदालत ने उसे ट्रांजिट रिमांड पर भेज दिया।

लाइफटाइमहाईकेकरीबपहुंचाForexreserves168अरबडॉलरबढ़करहुआ42355अरबडॉलरचारा घोटाले के सबसे बड़े मामले में लालू यादव दोषी करार, CBI विशेष अदालत का फैसला******Highlightsराष्ट्रीय जनता दल के सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव को सीबीआई की विशेष अदालत ने दोषी करार दिया है।रांची के डोरंडा कोषागार से 139.35 करोड़ रुपये के गबन से जुड़े पांचवें और अंतिम मामले में लालू यादव समेत कुल 99 आरोपियों के खिलाफ सीबीआई की विशेष अदालत ने फैसला सुनाया है। इस मामले में पिछले महीने के अंतिम सप्ताह में ही सुनवाई पूरी हो चुकी है। सीबीआई के विशेष न्यायाधीश एस के शशि ने फैसला सुनाने के लिए 15 फरवरी की तारीख तय की है।फैसले वाले दिन सभी आरोपियों को अदालत में निजी तौर पर उपस्थित रहने का आदेश दिया गया था। लालू प्रसाद रांची पहुंच चुके हैं। चारा घोटाले में डोरंडा कोषागार से 139.35 करोड़ रुपये की अवैध निकासी से जुड़े मामले में प्रारंभ में 170 आरोपी बनाए गए थे। इसमें से 55 आरोपियों की मौत हो गई। मामले में सात लोगों को सीबीआई ने सरकारी गवाह बनाया। वहीं, छह आरोपी अब भी फरार हैं।इस मामले में लालू प्रसाद, पूर्व सांसद जगदीश शर्मा, पशुपालन विभाग के सहायक निदेशक केएम प्रसाद समेत अन्य मुख्य आरोपी हैं। इससे पहले, चारा घोटाले के चार अन्य मामलों में लालू प्रसाद को दोषी ठहराया जा चुका है और उन्हें विभिन्न मामलों में चौदह वर्ष तक की कैद एवं 60 लाख रुपये जुर्माने की सजा सुनायी गई। पहले के चार मामलों में लालू यादव को उच्च न्यायालय से जमानत मिल चुकी है और वर्तमान में वह जमानत पर हैं।इनपुट-भाषालाइफटाइमहाईकेकरीबपहुंचाForexreserves168अरबडॉलरबढ़करहुआ42355अरबडॉलरकोरोना के चलते लगभग 7 महीने बाद फिर शुरू होगी एशियाई चैम्पियंस लीग, इस देश में होंगे मैच******कुआलालंपुर| एशियाई चैम्पियंस लीग सात महीने बाद बहाल होने के लिये तैयार है और गुरूवार को कतर ने सेमीफाइनल तक पश्चिमी क्षेत्र के सभी मैचों की मेजबानी करने की घोषणा की। एशियाई फुटबॉल परिसंघ (एएफसी) ने कहा कि 16 टीमें कतर के केंद्रीकृत स्थल जायेंगी और 14 सितंबर से शुरू होने वाले ग्रुप चरण को पूरा करेंगी।इन टीमों में सऊदी अरब और संयुक्त अरब अमीरात से चार-चार टीमें भी शामिल हैं। कोरोना वायरस महामारी के कारण फरवरी के बाद से एशिया के शीर्ष क्लब टूर्नामेंट के मुकाबले नहीं खेले गये हैं। ग्रुप चरण से आगे बढ़ने वाली टीमें कतर में ही रहेंगी और राउंड 16 से तीन अक्टूबर को होने वाले पश्चिमी क्षेत्र के सेमीफाइनल तक एक चरण के नाकआउट मैच खेलेंगी।इन 39 मैचों से पश्चिमी क्षेत्र से फाइनल की एक टीम तय होगी। एएफसी ने कहा कि टूर्नामेंट के दूसरे हाफ के आयोजन के लिये पूर्वी एशिया से दिलचस्पी दिखाने वाले संभावित मेजबान देश को 24 जुलाई तक अपनी दावेदारी सौंपनी होगी। एशियाई चैम्पियंस लीग के पूर्वी क्षेत्र ग्रुप में आस्ट्रेलिया, चीन, जापान और दक्षिण कोरिया की टीमें शामिल हैं।

लाइफटाइम हाई के करीब पहुंचा Forex reserves, 1.68 अरब डॉलर बढ़कर हुआ 423.55 अरब डॉलर

लाइफटाइमहाईकेकरीबपहुंचाForexreserves168अरबडॉलरबढ़करहुआ42355अरबडॉलरमिस्र: प्राइवेट अस्पताल की ICU में लगी आग, Coronavirus से संक्रमित सात लोगों की मौत******मिस्र के एक अस्पताल की गहन चिकित्सा इकाई में आग लगने से कोविड-19 के सात मरीजों की मौत हो गई। अलेक्जेंड्रिया के गवर्नर मेाहम्मद अल शरीफ ने बताया कि मिस्र के उत्तरी तट के पास अलेक्जेंड्रिया में एक निजी अस्पताल के कोरोना वायरस कक्ष में आग लग जाने से छह पुरुषों एवं एक महिला की मौत हो गई। नागरिक सुरक्षा विभाग ने कहा कि यह आग शॉर्ट सर्किट के कारण लगी।लोक अभियोजकों ने बताया कि पुलिस मामले की जांच कर रही है, लेकिन शुरुआती रिपोर्ट में संकेत मिला है कि सबसे पहले आग कक्ष के एयर कंडिशनर में लगी। बाडरावी अस्पताल ने एक बयान में कहा, ‘‘कुछ ही सेकंड में भयानक आग लग गई और तेजी से आग फैलने के कारण हमारा कोई कर्मी हालात पर काबू नहीं कर पाया।’’अभियोजकों ने बताया कि अन्य एक मरीज झुलस गया और शेष को बाहर निकाल लिया गया है। बता दें कि देश की राजधानी काहिरा समेत बड़े शहरों में संक्रमितों की संख्या लगातार बढ़ रही है और लोगों का कहना है कि संक्रमित लोगों को अस्पताल में बिस्तर नहीं मिल पा रहे हैं।स्वास्थ्य मंत्रालय ने बताया है कि देश में कोरोना वायरस संक्रमण के 66,754 मामले सामने आ चुके हैं, जिनमें से 2,872 लोगों की मौत हो चुकी है। कैबिनेट के प्रवक्ता नादेर साद ने बताया कि हालांकि काहिरा हवाईअड्डा अंतरराष्ट्रीय वाणिज्यिक उड़ानों के लिए फिलहाल बंद रहेगा और सार्वजनिक उद्यान एवं समुद्र तट भी जून के अंत तक लोगों के लिए बंद रहेंगे।संक्रमण के तेजी से बढ़ रहे मामलों के बावजूद मिस्र ने कर्फ्यू के घंटों में थोड़ी कटौती की है। रविवार से सुबह आठ से शाम चार बजे तक कर्फ्यू रहेगा। मिस्र के सकल घरेलू उत्पाद में पर्यटन की 12 प्रतिशत हिस्सेदारी है। सरकार को लॉकडाउन के कारण अर्थव्यवस्था के चरमरा जाने का खतरा है।लाइफटाइमहाईकेकरीबपहुंचाForexreserves168अरबडॉलरबढ़करहुआ42355अरबडॉलरIPL 2023 : CSK से अलग होंगे रवींद्र जडेजा! जानिए क्या है अंदर की बात******Highlightsआईपीएल 2023 अभी काफी दूर है। लेकिन इसको लेकर लगातार खबरें सामने आती रहती हैं। इस बीच आईपीएल को लेकर बड़ी और अहम खबर सामने आई है। पता चला है कि आईपीएल 2022 के शुरुआती मैचों में चेन्नई सुपरकिंग्स के कप्तान रहे रवींद्र जडेजा और सीएसके की राहें अलग अलग हो सकती हैं। अगर आने वाले कुछ महीने में कुछ नया नहीं हुआ तो अगले साल के आईपीएल में रवींद्र जडेजा पीली जर्सी में नजर नहीं आएंगे। बताया जाता है कि आईपीएल 2022के बाद से लेकर अब तक रवींद्र जडेजा सीएसके सम्पर्क में नहीं हैं। रवींद्र जडेजा और सीएसके के अलग होने की संभावना की एक रिपोर्ट टाइम्स ऑफ इंडिया ने छापी है। रिपोर्ट में कहा गया है कि सीएसके को एक परिवार की तरह काम करने के लिए जाना जाता है, चेन्नई सुपरकिंग्स के खिलाड़ी आईपीएल खत्म होने के बाद भी विभिन्न आयोजनों में शामिल होते रहते हैं, लेकिन रवींद्र जडेजा इन सबसे काफी दूर हैं।आईपीएल 2022 के शुरू होने से ठीक पहले एमएस धोनी ने सीएसके की कप्तानी छोड़ दी थी और इसके बाद रवींद्र जडेजा को टीम का नया कप्तान बनाया गया था। लेकिन रवींद्र जडेजा कप्तानी में उस तरह की छाप नहीं छोड़ पाए, जैसी टीम के कप्तान रहे एमएस धोनी करते थे। टीम को शुरुआती कुछ मैचों में लगातार हार का सामना करना पड़ा, इसके बाद रवींद्र जडेजा ने कप्तानी छोड़ दी और एमएस धोनी फिर से कप्तान बने। कुछ ही मैच खेलने के बाद रवींद्र जडेजा प्लेइंग इलेवन से भी बाहर हो गए, बताया गया कि रवींद्र जडेजा चोटिल हैं और वे आगे के लिए आईपीएल में नहीं खेल पाएंगे। इसके बाद ही इस तरह की खबरें आ रही थीं कि सीएसके मैनेजमेंट और रवींद्र जडेजा के बीच सब कुछ ठीक नहीं चल रहा है, हो सकता है कि आने वाले आईपीएल में दोनों की राहें जुदा हो जाएं।इस बीच संभावना है कि एमएस धोनी आईपीएल 2023 में भी खेलते हुए दिखेेंगे और सीएसके की कप्तानी करते रहेंगे। माना जा रहा है कि रवींद्र जडेजा अगले आईपीएल से पहले टीम से अगल होकर ऑक्शन में जाएंगे। हालांकि रिपोर्ट में ये भी कहा गया है कि हो सकता है कि धोनी और टीम मैनेजमेंट साथ में बैठकर रवींद्र जडेजा को मनाने की कोशिश करे, ताकि सब कुछ ठीक हो जाए। ये सभी जानते हैं कि टीम से साथ रवींद्र जडेजा के संबंध चाहे जैसे हों, लेकिन जडेजा धोनी को बहुत मानते हैं और धोनी की कप्तानी में ही रवींद्र जडेजा लगातार टीम इंडिया के लिए खेलते हुए दिखे थे। बताया जाता है कि रवींद्र जडेजा अगर अपनी कप्तानी में सीएसके के लिए अच्छा प्रदर्शन न कर पाते तो उनकी जगह टीम इंडिया में भी खतरे में पड़ सकती थी, इसलिए उन्हें कप्तानी से मुक्त किया गया। हालांकि टी20 विश्व कप 2022 तक इस बारे में ज्यादा चर्चा नहीं की जाएगी, लेकिन इसके बाद नवंबर में इसको लेकर बड़ा फैसला लिया जा सकता है।लाइफटाइमहाईकेकरीबपहुंचाForexreserves168अरबडॉलरबढ़करहुआ42355अरबडॉलरनए साल पर नियम तोड़ने वालों पर दिल्ली पुलिस ने कसा शिकंजा, 2022 के पहले दिन इतने मामले******Highlightsनववर्ष के मौके पर नियम तोड़ने वालों को दिल्ली पुलिस ने पहले ही चेतावनी दी थी। पुलिस ने आम नागरिकों कीबेहतर सुविधा के लिए नियम तोड़ने वालों पर शिकंजा कसने की रणनीति बनाई थी और आज साल के पहले दिन ही सैकड़ों को लोगों को पकड़ा गया। साथ ही पुलिस की ओर से इन लोगों पर कार्रवाई भी की गई।दिल्ली ट्रैफिक पुलिस ने स्पेशल ड्राइव चलाकर ड्रिंक एंड ड्राइव, खतरनाक ड्राइविंग, बिना हेलमेट, ट्रिपल राइडिंग और अन्य मामलों में कुल 657 लोगों को पकड़ा। जिसमें सबसे अधिक बिना हेलमेट वाले 370 केस बताए जा रहे हैं तो वहीं, सबसे कम 36 शराब पीकर गाड़ी चलाने वाले केस देखने को मिल रहे हैं। हालांकि, पुलिस की ये जांच अभी भी जारी है।बता दें, दिल्ली पुलिस के जवान अलग-अलग स्थानों पर सादे कपड़ों में भी तैनात रहे। साथ ही महिलाओं की सुरक्षा सुनिश्चित करने के लिए महिला पुलिसकर्मियों की विशेष टीमों को भी तैनात किया गया है। खासकर, दिल्ली के कुछ स्थान कनॉट प्लेस, चाणक्यपुरी, हौज खास और अन्य इलाकों में गश्त बढ़ा दी गई है। इन जगहों पर पुलिस की पैनी नजर बनी हुई है।

लाइफटाइम हाई के करीब पहुंचा Forex reserves, 1.68 अरब डॉलर बढ़कर हुआ 423.55 अरब डॉलर

लाइफटाइमहाईकेकरीबपहुंचाForexreserves168अरबडॉलरबढ़करहुआ42355अरबडॉलरसरकारी नौकरियों पर बड़ी खबर, डॉ. जितेंद्र सिंह बोले- 23 राज्यों और 8 केंद्र शासित प्रदेशों में नौकरी के लिए साक्षात्‍कार खत्‍म****** केंद्रीय पूर्वोत्तर क्षेत्र विकास राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार), प्रधानमंत्री कार्यालय, कार्मिक, लोक शिकायत, पेंशन, परमाणु ऊर्जा एवं अंतरिक्ष राज्यमंत्री डॉ. जितेंद्र सिंह ने आज शनिवार को यहां इस बात की जानकारी दी कि अब तक भारत के 23 राज्यों 8 केंद्र शासित प्रदेशों में के लिए साक्षात्कार की प्रक्रिया समाप्त कर दी गयी है। कार्मिक मंत्रालय के एक बयान के अनुसार, जितेंद्र सिंह ने कहा कि यह 2016 के बाद से केंद्र सरकार में ग्रुप-बी (गैर-राजपत्रित) और समूह- सी के पदों के लिए साक्षात्कार समाप्त कर दिए गए हैं।कार्मिक एवं प्रशिक्षण विभाग () द्वारा किये गये कुछ महत्वपूर्ण सुधारों के बारे में संक्षिप्त जानकारी देते हुए, डॉ. जितेंद्र सिंह ने याद दिलाया कि स्वतंत्रता दिवस के अवसर पर 15 अगस्त 2015 को लाल किले की प्राचीर से बोलते हुए ने साक्षात्कार की प्रक्रिया को समाप्त करने और नौकरी के लिए चयन पूरी तरह से लिखित परीक्षा के आधार पर करने का सुझाव दिया था क्योंकि जब भी किसी उम्मीदवार को साक्षात्कार का बुलावा आता था, तो उसका पूरा परिवार आशंका और चिंता से परेशान हो जाता था। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री की सलाह पर त्वरित रूप से अमल करते हुए डीओपीटी ने तेजी से काम किया और तीन महीने के भीतर 1 जनवरी, 2016 से केंद्र सरकार में भर्ती के लिए साक्षात्कार की प्रक्रिया की समाप्ति की घोषणा करने की संपूर्ण प्रक्रिया पूरी कर ली। ने बताया कि हालांकि जहां महाराष्ट्र और गुजरात जैसे कुछ राज्यों ने इस नियम को लागू करने में तेजी दिखायी, वहीँ कुछ राज्य ऐसे भी थे जो नौकरियों के लिए साक्षात्कार प्रक्रिया के आयोजन को समाप्त करने के लिए बेहद अनिच्छुक थे। उन्होंने इस बात पर संतोष व्यक्त किया कि कुछ राज्य सरकारों को काफी समझाने और बार-बार याद दिलाने के बाद, आज जम्मू एवं कश्मीर और लद्दाख सहित भारत के सभी 8 केंद्र शासित प्रदेशों और देश के 28 राज्यों में से 23 में साक्षात्कार आयोजित करने की प्रथा बंद कर दी गई है।डॉ. जितेंद्र सिंह ने कहा कि अतीत में कुछ पसंदीदा उम्मीदवारों की मदद के लिए साक्षात्कार में अंकों के बारे में शिकायतें, आपत्तियां और आरोप दर्ज कराये गये थे। साक्षात्कार की समाप्ति और चयन के लिए केवल लिखित परीक्षा के अंकों को योग्यता के पैमाने के रूप में देखते हुए, उन्होंने कहा कि यह कदम सभी उम्मीदवारों के लिए समान अवसर प्रदान करता है।डॉ. जितेंद्र सिंह ने बताया कि इस कदम की वजह से भर्ती प्रक्रिया में पारदर्शिता और निष्पक्षता सुनिश्चित होने के अलावा कई राज्यों से सरकारी खजाने में भारी बचत की सूचना भी मिली है क्योंकि उम्मीदवारों, जिनकी संख्या अक्सर हजारों में होती थी, साक्षात्कार के आयोजन में काफी खर्च किया जाता था और साक्षात्कार की यह प्रक्रिया कई दिनों तक जारी रहती थी। यहां यह उल्लेख करना जरूरी है कि पहले अक्सर कुछ संदिग्ध अभ्यर्थियों की मदद करने के लिए अभ्यर्थियों के साक्षात्कार के अंकों को कम करके लिखित परीक्षा की मेरिट से छेड़छाड़ किए जाने की शिकायतें आती थीं। पैसे के एवज में नौकरी या साक्षात्कार के अंकों में हेरफेर कर नौकरी हासिल करने के लिए भारी राशि का भुगतान करने के आरोप भी लगाए गए थे।लाइफटाइमहाईकेकरीबपहुंचाForexreserves168अरबडॉलरबढ़करहुआ42355अरबडॉलरAlert: इस हफ्ते 2 दिन रहेगी बैंकों में हड़ताल, अटक सकते हैं आपके जरूरी काम******Alert: इस हफ्ते 2 दिन रहेगी बैंकों में हड़ताल, अटक सकते हैं आपके जरूरी कामHighlightsइस हफ्ते यदि आपको से जुड़ा कोई जरूरी काम है तो एक बार कैलेंडर में तारीखें जरूर नोट कर लें। दरअसल इस हफ्ते 2 दिन बैंकों में हड़ताल है। दरअसल बैंकों के संघ यूनाइटेड फोरम ऑफ बैंक यूनियंस (यूएफबीयू) ने पूरे देश में 16 और 17 दिसंबर को बैंकों की दो दिन की हड़ताल का आह्वान किया है। ऐसे में आपको बैंक से जुड़े कामकाज निपटाने में परेशानी का सामना करना पड़ सकता है।यूएफबीयू के संयोजक बी रामबाबू ने एक प्रेस विज्ञप्ति में कहा कि संगठन ने बैंकिंग कानून (संशोधन) विधेयक 2021 के विरोध में और सरकारी बैंकों के निजीकरण के केंद्र के कथित कदम का विरोध करते हुए यह हड़ताल बुलाई है। यूएफबीयू के तहत बैंकों की नौ यूनियनें आती हैं।गौरतलब है कि वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने इस साल की शुरुआत में वित्त वर्ष 2021-22 का बजट पेश करते हुए 1.75 लाख करोड़ रुपये जुटाने के विनिवेश लक्ष्य के तहत सार्वजनिक क्षेत्र के दो बैंकों के निजीकरण की घोषणा की थी। इससे पहले सरकार ने 2019 में आईडीबीआई बैंक में अपनी बहुलांश हिस्सेदारी एलआईसी को बेचकर आईडीबीआई बैंक का निजीकरण कर दिया था। इसके अलावा पिछले चार साल में 14 सरकारी बैंकों का विलय किया गया है।यूएफबीयू ने यह आरोप भी लगाया है कि सार्वजनिक क्षेत्र के बैंकों को 13 कंपनियों के ऋण बकाया के कारण लगभग 2.85 लाख करोड़ रुपये का नुकसान हुआ है। साथ ही यह भी कहा है कि बैंक, यस बैंक और आईएलएंडएफएस जैसे संकटग्रस्त संस्थानों को उबारने का काम करते रहे हैं। यूएफबीयू द्वारा दिए गए आंकड़ों के अनुसार, 13 निजी कंपनियों का बकाया 4,86,800 करोड़ रुपये था और इसे 1,61,820 करोड़ रुपये में निपटाया गया, जिसके परिणामस्वरूप 2,84,980 करोड़ रुपये का नुकसान हुआ।सार्वजनिक क्षेत्र के बैंकों का इस्तेमाल निजी क्षेत्र के संकटग्रस्त बैंकों जैसे ग्लोबल ट्रस्ट बैंक, यूनाइटेड वेस्टर्न बैंक, बैंक ऑफ कराड, आदि को राहत देने के लिए किया गया है। हाल के दिनों में, यस बैंक को सरकारी बैंक एसबीआई (भारतीय स्टेट बैंक) ने संकट से निकाला। इसी तरह निजी क्षेत्र की सबसे बड़ी एनबीएफसी (गैर बैंकिंग वित्त कंपनी), आईएलएंडएफएस को सार्वजनिक क्षेत्र के एसबीआई और एलआईसी ने संकट से निकाला।"

लाइफटाइम हाई के करीब पहुंचा Forex reserves, 1.68 अरब डॉलर बढ़कर हुआ 423.55 अरब डॉलर

लाइफटाइमहाईकेकरीबपहुंचाForexreserves168अरबडॉलरबढ़करहुआ42355अरबडॉलरगोवा चुनाव 2022: त्रिशंकु विधानसभा के पूर्वानुमान के बीच MGP को BJP और कांग्रेस अपनी ओर करने में जुटी******Highlights अधिकांश ‘एग्जिट पोल’ में गोवा (Goa Exit Poll) में त्रिशंकु विधानसभा होने के पूर्वानुमान जताये जाने के बीच भारतीय जनता पार्टी और कांग्रेस को तटीय राज्य में सरकार बनाने के लिए महाराष्ट्रवादी गोमांतक पार्टी से समर्थन की जरूरत पड़ सकती है। सत्तारूढ़ बीजेपी और विपक्षी कांग्रेस दावा कर रही हैं कि वे बहुमत का आंकड़ा प्राप्त कर लेंगी। साथ ही, दोनों दलों ने यह भी कहा है कि सीटें कम मिलने की स्थिति में वे दीपक धवलीकर के नेतृत्व वाले MGP से समर्थन मांगेंगे। गोवा की 40 सदस्यीय विधानसभा के लिए 14 फरवरी को मतदान हुआ था और मतगणना 10 मार्च को होगी।बता दें कि 2017 के में कांग्रेस ने सर्वाधिक 17 सीट पर जीत हासिल की थी, जबकि भारतीय जनता पार्टी को 13 सीट मिली थी। हालांकि, भगवा दल ने लिए महाराष्ट्रवादी गोमांतक पार्टी, गोवा फॉरवर्ड पार्टी (GFP) और निर्दलीय उम्मीदवारों के साथ गठबंधन करके सरकार बना ली थी। 2019 में मनोहर पर्रिकर के निधन के बाद जब प्रमोद सावंत मुख्यमंत्री बने थे, तब MGP के 2 मंत्रियों को राज्य मंत्रिमंडल से निकाल दिया गया था। एमजीपी और तृणमूल कांग्रेस ने यह चुनाव साथ मिल कर लड़ा है।मुख्यमंत्री प्रमोद सावंत ने सोमवार को कहा कि बीजेपी नेतृत्व ने बहुमत का आंकड़ा नहीं छूने की स्थिति से निपटने के लिए समर्थन पाने को लेकर MGP से बातचीत शुरू कर दी है। बीजेपी ने इस बार अकेले चुनाव लड़ा, जबकि कांग्रेस ने विजय सरदेसाई के नेतृत्व वाले GFP के साथ गठबंधन किया था। अखिल भारतीय कांग्रेस समिति (AICC) के प्रमुख दिनेश जी. राव ने रविवार को कहा था कि अगर पार्टी को बहुमत नहीं मिला, तो वह आम आदमी पार्टी (AAP), MGP और तृणमूल कांग्रेस जैसे दलों के साथ चुनाव के बाद गठबंधन करने को तैयार है।कांग्रेस नेता माइकल लोबो ने सोमवार को कहा था कि कांग्रेस-GFP गठबंधन के 21 से अधिक सीटें हासिल करने के बाद भी वे सरकार में MGP को शामिल करेंगे। लोबो ने कहा कि भारतीय जनता पार्टी ने MGP के साथ काफी गलत किया है। लोबो इस साल जनवरी में ही बीजेपी छोड़कर कांग्रेस में शामिल हुए थे। MGP के विधायक सुदीन धवलीकर ने कहा कि परिणाम आने पर तृणमूल को विश्वास में लेने के बाद ही वह गठबंधन पर कोई फैसला करेंगे।धवलीकर ने कहा, ‘MGP और तृणमूल मिलकर यह फैसला करेगी कि किसका समर्थन करना है और किसका नहीं। अभी कुछ भी कहना जल्दबाजी होगी, क्योंकि अभी हमें नहीं पता किसको कितनी सीट मिलेगी।’ वहीं, सुदीन धवलीकर ने शनिवार को कहा था कि उनकी पार्टी तृणमूल को विश्वास में लेकर गोवा चुनाव परिणाम के बाद अपना रुख तय करेगी, लेकिन मुख्यमंत्री के रूप में प्रमोद सावंत का ‘कभी समर्थन नहीं’ करेगी। उन्होंने कहा कि सावंत ने ही MGP के मंत्रियों को मंत्रिमंडल से बाहर किया था।

लाइफटाइमहाईकेकरीबपहुंचाForexreserves168अरबडॉलरबढ़करहुआ42355अरबडॉलर#Article370: Twitter पर आई मीम्स की बाढ़, इन्हें देखकर नहीं रोक पाएंगे अपनी हंसी******जम्मू-कश्मीर में मोदी सरकार ने ऐतिहासिक फैसला लेते हुए को खत्म कर दिया है। ये फैसला आते ही सोशल मीडिया पर #370 ट्रेंड करने लगा। इसको लेकर पूरे देशभर के लोग अपनी प्रतिक्रिया दे रहे हैं। पर लोगों ने इस तरह के मीम्स शेयर किए हैं, जिन्हें देखकर आप अपनी हंसी नहीं रोक पाएंगे।ट्विटर पर और मोदी सरकार से जुड़े मीम्स की बाढ़ आ गई है। यूजर्स अलग-अलग तरह के मीम्स शेयर कर रहे हैं, जो काफी मजेदार हैं। लोगों ने बॉलीवुड फिल्मों के सीन्स से लेकर धोनी तक को लेकर फनी मीम्स बनाए हैं।बता दें कि केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने सोमवार को जम्मू एवं कश्मीर को विशेष राज्य का दर्जा देने वाले संविधान के अनुच्छेद 370 को रद्द करने का प्रस्ताव दिया। उन्होंने कहा कि राज्य को दो केंद्र शासित प्रदेशों में विभाजित किया जाएगा। पहला जम्मू एवं कश्मीर, जहां एक विधानसभा होगी और दूसरा लद्दाख जहां कोई विधानसभा नहीं होगी। दिल्ली भी एक केंद्र शासित प्रदेश है, जिसकी विधानसभा है।अमित शाह ने कहा कि यह कदम सीमा पार आतंकवाद के लगातार खतरे को देखते हुए उठाया गया है।लाइफटाइमहाईकेकरीबपहुंचाForexreserves168अरबडॉलरबढ़करहुआ42355अरबडॉलरपति से फोन पर हुए झगड़े के बाद महिला ने 4 बेटियों को तालाब में फेंका, 3 की मौत****** बिहार के गोपालगंज जिले में एक महिला ने पति के साथ फोन पर हुए झगड़े के बाद अपनी 4 बेटियों को तालाब में फेंक दिया। पुलिस द्वारा दी गई जानकारी के मुताबिक इस घटना में महिला की 3 बेटियों की मौत हो गई। दिल दहलाने वाला यह मामला गोपालगंज जिले के कटेया थाना क्षेत्र का है जहां एक मां ने एक-एककर अपनी 4 बेटियों को तालाब में फेंक दिया। पुलिस ने बताया कि घटना में 3 बच्चियों की मौत हो गई और तीनों के शवों को पानी से बाहर निकाल लिया गया है, जबकि एक बच्ची का इलाज अस्पताल में चल रहा है।पुलिस के एक अधिकारी ने बताया कि कौलरही गांव निवासी असलम मियां की पत्नी नूरजहां का शुक्रवार की शाम किसी बात को लेकर अपने पति से फोन पर झगड़ा हुआ। झगड़ा होने के बाद नूरजहां अपनी चारों को लेकर मामा के घर पहुंचाने के बहाने घर से निकली और गौरा गांव में एक तालाब के पास रूककर अपनी चारों बेटियों को लगी। बेटियों के शोरगुल को सुन गांव के लोग इकट्ठा हो गए और तालाब में कूदकर बच्चियों की जान बचाने की कोशिश की। ग्रामीणों ने कड़ी मशक्कत के बाद एक बच्ची को तो जिंदा बचा लिया, लेकिन अन्य 3 की मौत हो चुकी थी।कटेया के थाना प्रभारी सुमन कुमार मिश्रा ने बताया कि घटना की सूचना मिलने के बाद पहुंची पुलिस ने स्थानीय ग्रामीणों की मदद से तीनों बच्चियों का शव को पानी से बाहर निकलवाया। उन्होंने बताया कि मृतकों में गुलाबसा खातून (7), नूरसबा खातून (3) और तैयबा खातून (2) शामिल हैं। उन्होंने बताया कि बचाई गई बच्ची को इलाज के लिए एक अस्पताल में भर्ती कराया गया है, जहां उसकी खतरे से बाहर बताई जा रही है। थाना प्रभारी ने बताया कि आरोपी महिला को हिरासत में लेकर पूछताछ की जा रही है तथा मामले की प्रत्येक कोणों से जांच की जा रही है। असलम मियां गुजरात में नौकरी करते हैं।

लाइफटाइमहाईकेकरीबपहुंचाForexreserves168अरबडॉलरबढ़करहुआ42355अरबडॉलरUP Election Result 2022: उत्तर प्रदेश में 500 से कम वोटों के अंतर से जीते बीजेपी के 7 प्रत्याशी, जानें सपा के कितने******Highlightsउत्तर प्रदेश में करीब एक दर्जन सीटों पर भारतीय जनता पार्टी की और समाजवादी पार्टी की अगुवाई वाले गठबंधनों के बीच बेहद कांटे का मुकाबला हुआ और जीत व हार का फैसला 500 से भी कम मतों के अंतर से हुआ। चुनावी नतीजों के विश्लेषण से पता चलता है कि 11 सीटों पर जीत और हार का अंतर 500 मतों का रहा जबकि डेढ़ दर्जन सीटें ऐसी रहीं जहां हार और जीत का फैसला एक हजार के करीब मतों के अंतर से हुआ।बीजेपी गठबंधन के उम्मीदवारों ने 7 सीटों पर सपा गठबंधन के प्रत्याशियों को 500 से भी कम मतों के अंतर से शिकस्त दी, वहीं सपा गठबंधन के उम्मीदवारों ने इसी तरह 4 सीटों पर बीजेपी गठबंधन के उम्मीदवारों को पराजित किया। वर्ष 2017 के विधानसभा चुनाव में 8 सीटों पर जीत और हार का फासला एक हजार से कम मतों का था। इनमें से 5 सीटों पर बीजेपी के उम्मीदवारों को जबकि 2 सीटों पर बहुजन समाज पार्टी और एक सीट पर सपा के उम्मीदवार को जीत मिली थी।पिछले में सबसे कांटे का मुकाबला डुमरियागंज सीट पर हुआ था। यहां बीजेपी के राघवेंद्र प्रताप सिंह ने सपा की सैयदा खातून को 171 मतों से पराजित किया था। इस बार के चुनाव में सबसे कांटे का मुकाबला बिजनौर जिले की 3 और बाराबंकी की 2 विधानसभा सीटों पर हुआ। बिजनौर जिले की धामपुर विधानसभा सीट पर जबरदस्त टक्कर हुई। बेहद करीबी मुकाबले में धामपुर सीट पर बीजेपी के अशोक कुमार राणा ने सपा के नईम उल हसन को सिर्फ 203 मतों से पराजित किया।बिजनौर की चांदपुर सीट पर भी जबदरस्त मुकाबला देखने को मिला लेकिन जीत अंतत: सपा के स्वामी ओमवेश को मिली। उन्होंने बीजेपी के कमलेश सैनी को 234 मतों से हराया। इसी जिले की नहटौर सीट पर दिलचस्प मुकाबला हुआ और कई दौर की उठापटक के बाद आखिरकार भाजपा के ओमकुमार ने रालोद के मुंशीराम को 258 मतों से हराया। बाराबंकी जिले की कुर्सी विधानसभा सीट पर भी बेहद कांटे का मुकाबला हुआ। बीजेपी के सकेंद्र प्रताप ने यहां सपा के राकेश कुमार वर्मा को 217 मतों से पराजित किया।बाराबंकी जिले की रामनगर सीट पर सपा के फरीद किदवई ने बीजेपी के शदकुमार अवस्थी को 261 मतों से पराजित किया। सुल्तानपुर जिले की इसौली विधानसभा सीट पर भी कांटे का मुकाबला हुआ। यहां से सपा के ताहीर खान ने बीजेपी के ओम प्रकाश पांडे को 269 मतों से हराया। रामपुर जिले की बिलासपुर विधानसभा सीट पर भी दिलचस्प मुकाबला देखने को मिला। यहां हुई कांटे की टक्कर के बाद बीजेपी के बलदेव सिंह औलाख को जीत मिली। उन्होंने सपा के अमरजीत सिंह को 307 मतों से शिकस्त दी।बागपत जिले की बड़ौत सीट पर भी मुकाबला कड़ा हुआ। अंतत: जीत बीजेपी के कृष्णपाल मलिक की हुई। उन्होंने RLD के उम्मीदवार जयवीर को 315 मतों से हराया। सहारनपुर जिले की नकुड़ विधानसभा में भी बीजेपी और सपा के बीच जबरदस्त टक्कर हुई। यहां से बीजेपी के मुकेश चौधरी ने सपा के धरम सिंह सैनी को 315 मतों से पराजित किया। सैनी मुख्यमंत्री योगी की सरकार में मंत्री थे और चुनाव से ठीक पहले भाजपा छोड़कर वह समाजवादी पार्टी में शामिल हुए थे।गोंडा जिले की कटरा विधानसभा सीट पर भी कांटे की टक्कर हुई। यहां बीजेपी के वीर विक्रम सिंह ने सपा के राजेश यादव को 357 मतों से मात दी। वहीं औरैया जिले की दिबियापुर सीट पर सपा के प्रदीप कुमार यादव ने बीजेपी के लखन सिंह राजपूत को 473 मतों से हराया। जौनपुर जिले की शाहगंज सीट पर निषाद पार्टी के रमेश निर्बल ने सपा के विधायक और कद्दावर नेता शैलेंद्र यादव ललाई को 719 मतों से हराया।सिद्धार्थनगर जिले की डुमरियागंज सीट पर सपा की सैयदा खातून ने बाजी मारी। कांटे के मुकाबले में उन्होंने बीजेपी के राघवेंद्र प्रताप सिंह को 771 मतों से हराया। मुरादाबाद जिले की मुरादाबाद नगर सीट से बीजेपी के रितेश कुमार गुप्ता ने सपा के युसूफ अंसारी को 782 वोटों से हराया जबकि फिरोजाबाद जिले की जसराणा सीट पर हुई जबरदस्त टक्कर में जीत सपा के सचिन यादव के खाते में गई। उन्होंने बीजेपी के मानवेंद्र सिंह को 836 मतों से हराया।लाइफटाइमहाईकेकरीबपहुंचाForexreserves168अरबडॉलरबढ़करहुआ42355अरबडॉलरशाहरुख खान के इंडस्ट्री में पूरे हुए 29 साल, भावुक होकर 'बादशाह' ने कहा- 'इस प्यार के लिए शुक्रिया...'******हिंदी सिनेमा जगत में करीब तीन दशक का सफर पूरा करने वाले सुपरस्टारने शुक्रवार को कहा कि वह इन वर्षों में प्रशंसकों से मिले प्यार से अभिभूत हैं। बॉलीवुड में किंग खान के नाम से पहचाने जाने वाले 55 वर्षीय अभिनेता शाहरूख 1992 में फिल्म ‘दीवाना’ से अपने बॉलीवुड करियर का आगाज करने से पहले धारावाहिक ‘फौजी’ और ‘सर्कस’ में नजर आए थे। अभिनेता ने ‘चमत्कार’, ‘राजू बन गया जेंटलमैन’, ‘डर’, ‘बाजीगर’, ‘दिलवाले दुल्हनिया ले जाएंगे’, ‘दिल तो पागल है’, ‘कुछ कुछ होता है’, ‘देवदास’ , ‘स्वदेश’, ‘कल हो ना हो’, ‘चक दे इंडिया’, ‘मैं हूं ना’, ‘माई नेम इज़ खान’ , ‘जीरो’ और ‘चेन्नई एक्सप्रेस’ जैसी कई हिट फिल्में दी हैं, जिनमें उनके अभिनय के लिए उन्हें काफी सराहना भी मिली।शाहरूख खान ने शुक्रवार को तड़के ट्विटर पर अपने प्रशंसकों का प्यार तथा समर्थन देने के लिए शुक्रिया अदा किया। उन्होंने लिखा, ‘‘ करीब 30 साल में आपसे मिले प्यार से अभिभूत हूं। अपनी आधी से ज्यादा जिंदगी आपका मनोरंजन करने में लगी दी। कल कुछ समय निकालकर आपको अपनी ओर से कुछ प्यार दूंगा। शुक्रिया, प्यार की जरूरत थी।’’बता दें कि ट्विटर पर सुबह से ही #29GoldenYearsOfSRK ट्रेंड हो रहा है। शाहरुख के फैंस उन पर प्यार लुटा रहे हैं और अब तक उनके शानदार सफर को याद कर रहे हैं।शाहरुख खान की देश में ही नहीं, बल्कि पूरी दुनिया में जबरदस्त फैन फॉलोइंग है। उन्हें फैंस 'बॉलीवुड के बादशाह' और 'किंग ऑफ बॉलीवुड' भी कहते हैं। उन्होंने अपने फिल्मी करियर में 80 से ज्यादा फि्लमों में काम किया है। उन्हें भारत सरकार ने पद्मश्री से भी नवाजा है। वे आज भी हिंदी सिनेमा के नंबर वन एक्टर्स में से एक हैं।शाहरुख खान ने 80 के दशक में टीवी सीरियल से अपने एक्टिंग करियर की शुरुआत की थी। उन्होंने 1992 में 'दीवाना' मूवी से बॉलीवुड में कदम रखा। हालांकि, उन्हें 1993 में रिलीज हुई मूवी 'बाजीगर' से लोकप्रियता हासिल हुई। फिर वो 'डर', 'अंजाम' जैसी मूवीज में नज़र आए। 'दिलवाले दुल्हनिया ले जाएंगे', 'दिल तो पागल है', 'कुछ कुछ होता है', 'मोहब्बतें', 'कभी खुशी कभी गम' जैसी मूवीज ने शाहरुख को रोमांस का 'बादशाह' बना दिया।फिलहाल शाहरुख आखिरी बार स्क्रीन पर साल 2018 में 'जीरो' में नज़र आए थे। इसमें अनुष्का शर्मा और कैटरीना कैफ भी लीड रोल में थे। अब उनकी अपकमिंग मूवीज का फैंस बेसब्री से इंतजार कर रहे हैं।उन्होंनेहाल ही में एक फिल्म की शूटिंग शुरू की है, जिसका नाम ‘पठान’ बताया जा रहा है।(PTI इनपुट के साथ)

लाइफटाइमहाईकेकरीबपहुंचाForexreserves168अरबडॉलरबढ़करहुआ42355अरबडॉलरLandslide In Nepal: नेपाल में बड़ा हादसा, लैंडस्लाइड के कारण 17 की मौत, 5 लापता, पीएम शेर बहादुर देउबा ने दुख जताया******Highlights नेपाल के अछाम जिले में भूस्खलन के कारण कम से कम 17 लोगों की मौत हो गई और पांच लोगों का कोई पता नहीं चल पाया है। एक स्थानीय अधिकारी ने समाचार एजेंसी शिन्हुआ को बताया कि शुक्रवार सुबह से लगातार बारिश के कारण रात भर भूस्खलन हुआ, जिससे जिले के तीन अलग-अलग हिस्सों में घर बह गए। उन्होंने कहा, "बचाव दल ने 17 लोगों के शव बरामद किए हैं और 11 घायलों को घटनास्थल से बचाया है।" अधिकारी ने कहा, "पांच लापता लोगों की तलाश जारी है।" यह देखते हुए कि बचाव अभियान के लिए सेना और पुलिस को जुटाया गया है। घायलों में से तीन की हालत गंभीर है और उन्हें पड़ोसी प्रांत में इलाज के लिए एयरलिफ्ट किया गया है।नेपाल पुलिस के अनुसार, गुरुवार रात से लगातार बारिश के कारण आई बाढ़ और भूस्खलन के कारण जान-माल का भारी नुकसान हुआ है। वहीं, पुलिस प्रवक्ता दान बहादुर कार्की ने कहा कि बचाव दल ने राजधानी काठमांडू से लगभग 450 किमी (281 मील) पश्चिम में अछाम जिले में कीचड़ में दबे पांच घरों के मलबे से मृतकों और घायलों को निकाला लिया है।लाइफटाइमहाईकेकरीबपहुंचाForexreserves168अरबडॉलरबढ़करहुआ42355अरबडॉलरशोपियां मुठभेड़ में जैश कमांडर मुन्ना लाहौरी समेत 2 आतंकी ढेर, कुपवाड़ा में जवान शहीद****** के शोपियां जिले में सुरक्षा बलों और आतंकवादियों के बीच शनिवार सुबह मुठभेड़ में जैश-ए-मोहम्मद का कमांडर मुन्ना लाहौरी मारा गया। लाहौरी को बिहारी नाम से भी जाना जाता था वह पाकिस्तान से था। पुलिस ने बताया कि वह कश्मीर में कई लोगों की हत्या में भी शामिल था। पुलिस के एक अधिकारी ने बताया कि लाहौरी जैश-ए-मोहम्मद आतंकवादी समूह में लोगों की भर्ती भी करता था। उन्होंने बताया कि खुफिया जानकारी के आधार पर रातभर चले अभियान के बाद वह अपने एक साथी के साथ मारा गया।इस मुठभेड़ में लाहौरी समेत दो आतंकवादी मारे गए। पुलिस ने बताया कि आतंकवादियों की मौजूदगी की सूचना मिलने के बाद सुरक्षा बलों ने शनिवार तड़के शोपियां शहर के बोनबाजार इलाके में घेराबंदी कर तलाशी अभियान शुरू किया।पुलिस ने कहा, "जैसे ही छिपे हुए आतंकवादियों के चारों ओर घेराबंदी कड़ी की गई, उन्होंने सुरक्षा बलों पर गोलीबारी करनी शुरू कर दी और जवाबी कार्रवाई में दो आतंकवादी मारे गए थे।"वहीं, शनिवार की सुबह एक अन्य घटना में कुपवाड़ा जिले के माछिल सेक्टर में नियंत्रण रेखा पर पाकिस्तान द्वारा संघर्ष विराम का उल्लंघन कर की गई गोलीबारी में 57 राष्ट्रीय राइफल्स के लांस नायक राजेंद्र सिंह शहीद हो गए।सूत्रों ने कहा, "पाकिस्तान की गोलीबारी में लांस नायक राजेंद्र सिंह गंभीर रूप से घायल हो गए। उन्हें नजदीकी अस्पताल ले जाया गया, लेकिन गंभीर चोटों के कारण उन्होंने दम तोड़ दिया।"

नवीनतम उत्तर (2)
2022-10-07 14:52
उद्धरण 1 इमारत
IPL 2022 : तीन गेंद पर दो बार आउट, ये है जॉस बटलर का सबसे बड़ा दुश्मन******Highlightsआईपीएल 2022 में आज लखनऊ सुपर जाएंट्स और राजस्थान रॉयल्स के बीच मैच है। दोनों टीमों ने अब तक इस साल अच्छा प्रदर्शन किया है। करीब करीब ये भी पक्का है कि लखनऊ सुपर जाएंट्स और राजस्थान रॉयल्स प्लेऑफ में भी एंट्री पा जाएंगी। इस बीच आज के मैच में राजस्थान रॉयल्स के कप्तान संजू सैमसन ने टॉस जीता और पहले बल्लेबाजी का फैसला किया। हालांकि आज के मैच में जिस खिलाड़ी से राजस्थान रॉयल्स को सबसे ज्यादा उम्मीद थी, वो कुछ खास नहीं कर सका। अब तक इस साल सबसे ज्यादा रन बनाने वाले और ऑरेंज कैप होल्डर जॉस बटलर सस्ते में आउट हो गए। इससे राजस्थान रॉयल्स को बड़ा झटका लगा। मजे की बात ये है कि जॉस बटलर की लखनऊ सुपर जाएंट्स के तेज गेंदबाज आवेश खान के सामने एक नहीं चल रही है।आईपीएल 2022 में अब तक आवेश खान ने जॉस बटलर को दो बार आउट किया है। इसी साल जब इन दोनों टीमों के बीच पहला मैच हुआ था, तब आवेश खान ने पहली ही गेंद पर जॉस बटलर को आउट कर दिया था। उस मैच में जॉस बटलर ने 11 गेंद पर 13 रन की पारी खेली। इसमें एक चौका और छक्का मारा था। लेकिन आवेश खान के आते ही जॉस बटलर पवेलियन वापस लौट गए। आज के मैच में भी ऐसा ही हुआ। आज आवेश खान तीसरा ही ओवर लेकर आए। इस ओवर की दूसरी गेंद पर उन्होंने जॉस बटलर को अपना शिकार बना ​लिया। आज जॉस बटलर ने छह गेंदों का सामना किया और दो ही रन बना सके। आवेश खान ने उन्हें क्लीन बोल्ड कर दिया। यानी इस साल आवेश खान ने जॉस बटलर को तीन गेंदें फेंकी, इसमें दो बार आउट किया, लेकिन रन एक भी नहीं दिया। मजे की बात ये भी है कि इससे पहले आईपीएल 2021 में जॉस बटलर ने आवेश खान की ​ठीकठाक पिटाई की थी। पिछले साल आवेश खान ने जॉस बटलर को 11 गेंदें फेंकी थी, इसमें उन्होंने 35 रन दिए थे और एक भी बार आउट नहीं कर पाए थे।आईपीएल 2022 में इस वक्त ऑरेंज कैप पर जॉस बटलर का ही कब्जा है। जॉस बटलर अब तक 13 मैचों में 627 रन बना चुके हैं। वे सबसे आगे हैं, दूसरे नंबर पर एलएसजी के कप्तान केएल राहुल हैं। जॉस बटलर ने 52.25 की औसत से रन बनाए हैं, वहीं उनका स्ट्राइक रेट 148.22 का है। अब तक बटलर के बल्ले से तीन शतक और तीन अर्धशतक आए हैं। आगे देखना होगा कि ऑरेंज कैप कैप की रेस में कौन आगे निकलता है।
2022-10-07 14:50
उद्धरण 2 इमारत
OnePlus 6 और 6T यूजर्स के लिए आई बड़ी खुशखबरी, नए फीचर्स से लैस होगा पुराना फोन******OnePlus 6, 6T receives Android 10 update ने अपने लोकप्रिय मॉडल वनप्‍लस 6 और 6टी मॉडल्‍स को एंड्रॉयड 10 के लिए अपग्रेड करना शुरू कर दिया है। कंपनी ने स्‍टैबल चैनल के जरिये ऑक्‍सीजन ओएस 10.0 को जारी करना शुरू कर दिया है। कंपनी ने कहा कि एंड्रॉयड 10 आधारित ऑक्‍सीजन ओएस 10 को वनप्‍लस 6 और वनप्‍लस 6टी उपभोक्‍ताओं को चरणबद्ध तरीके से उपलब्‍ध कराया जाएगा।शुरुआत में सीमित संख्‍या में उपभोक्‍ताओं को ओवर-द-एयर (ओटीए) हासिल होगा और बाद में कुछ महत्‍वपूर्ण बग्‍स को सुनिश्चित करने के कुछ दिनों बाद इसे सभी के लिए उपलब्‍ध कराया जाएगा।वनप्‍लस के ग्‍लोबल प्रोडक्‍ट ऑपरेशन मैनेजर, मनु जे ने वनप्‍लस फोरम पर लिखा है कि हमें यह घोषणा करते हुए काफी खुशी है कि हम वनप्‍लस 6 और वनप्‍लस 6टी उपभोक्‍ताओं के लिए एंड्रॉयड 10 पर आधारित ऑक्‍सीजन ओएस वर्जन 10.0 को जारी करने के लिए तैयार हैं।इस अपडेट का आकार लगभग 1.8जीबी है। यह वनप्‍लस 6 सीरीज में एक नया यूजर इंटरफेस और फीचर्स लेकर आएगा। इसमें नया नेवीगेशन गेसचर, कस्‍टोमाइजेशन ऑप्‍शन और बेहतर प्राइवेसी कंट्रोल्‍स शामिल हैं। यह नया अपडेट कीवर्ड के जरिये स्‍पैम मैसेज को ब्‍लॉक करने की क्षमता भी प्रदान करेगा। इसके अलावा यह गेम स्‍पेस और कॉन्‍टेक्‍सचुअल डिस्‍प्‍ले के साथ आएगा।
2022-10-07 13:12
उद्धरण 3 इमारत
IND vs SA: साउथ अफ्रीका सीरीज के लिए अचानक इस खिलाड़ी की टीम में एंट्री, IPL में मचाया था कहर******Highlights ऑस्ट्रेलिया को तीन मैचों की टी20 सीरीज में हराने के बाद अब टीम इंडिया का सामना साउथ अफ्रीका से होने जा रहा है। ये सीरीज इसी महीने की 28 तारीख से खेले जानी है। हालांकि इस सीरीज से कुछ ही दिन पहले भारतीय टीम में बड़े बदलाव हुए हैं। बता दें कि इस सीरीज में टीम इंडिया के स्टार ऑलराउंडर हार्दिक पांड्या रेस्ट पर हैं और उनकी जगह भरने के लिए बीसीसीआई ने एक स्टार खिलाड़ी को चयन किया है।साउथ अफ्रीका सीरीज के लिए भारतीय टीम में ऑलराउंडर शाहबाज अहमद को मौका दिया गया है। ये खिलाड़ी बल्ले से कमाल मचाने के साथ-साथ अच्छी लेफ्ट ऑर्म स्पिन गेंदबाजी करने में भी माहिर है। शाहबाज को आईपीएल में उनके अच्छे प्रदर्शन के चलते मौका मिला। ये खिलाड़ी अभी तक नीली जर्सी में अपना डेब्यू नहीं कर पाया है। शाहबाज ने आईपीएल में 29 मैच खेले हैं। उन्होंने इस बड़ी लीग में 279 रन बनाने के साथ ही 13 विकेट भी हासिल किए हैं। वर्ल्ड कप में रवींद्र जडेजा नहीं खेल पाएंगे, इसके चलते इस खिलाड़ी को साउथ अफ्रीका के खिलाफ आजमाया जा सकता है।दीपक हुड्डा के अलावा मोहम्मद शमी की उपलब्धता पर भी सस्पेंस बरकरार है। शमी वैसे तो 2021 में यूएई में हुए टी20 वर्ल्ड कप के बाद से इस फॉर्मेट में कोई भी इंटरनेशनल मुकाबला नहीं खेले हैं। वहीं जुलाई के बाद से वह इंग्लैंड सीरीज के बाद व्हाइट बॉल क्रिकेट से दूर हैं। लेकिन उनका इस साल आईपीएल में प्रदर्शन देखते हुए और लोगों की लगातार उठ रही मांग के बीच उन्हें ऑस्ट्रेलिया व साउथ अफ्रीका सीरीज के स्क्वॉड के साथ विश्व कप के स्टैंडबाय के तौर पर रखा गया। ऑस्ट्रेलिया सीरीज से पहले वह कोरोना संक्रमित हो गए। अभी भी यह कहा जा रहा है कि, वह फिट नहीं हो पाए हैं। वहीं वह टीम के साथ तिरुवनंतपुरम भी नहीं पहुंचे हैं।एक सूत्र के मुताबिक क्रिकबज की रिपोर्ट में सामने आया कि, शमी को अभी पूरी तरह से मेडिकली फिट नहीं घोषित किया गया है। अभी उनको पूरी तरह फिट होने के समय की जानकारी नहीं मिल पाई है लेकिन बस इतना है कि सबकुछ ठीक नहीं है। वहीं उमेश यादव जिन्हें ऑस्ट्रेलिया सीरीज में शमी का रिप्लेसमेंट बनाया गया था वह तिरुवनंतपुरम भी टीम के साथ पहुंच गए हैं। ऐसे में पहले मैच में निश्चित रूप से शमी की उपलब्धता पर सस्पेंस और उमेश यादव को ही उनकी जगह मौका मिल सकता है।रोहित शर्मा (कप्तान), केएल राहुल, विराट कोहली, सूर्यकुमार यादव, श्रेयस अय्यर, ऋषभ पंत, दिनेश कार्तिक, रविचंद्रन अश्विन, युजवेंद्र चहल, अक्षर पटेल, अर्शदीप सिंह, मोहम्मद शमी (इंजरी पर अपडेट बाकी), हर्षल पटेल, दीपक चाहर, जसप्रीत बुमराह, शाहबाज अहमद।
वापसी