नई पोस्ट करें

Over Cooked Rice Hacks : ज्यादा पक गए हैं चावल? न लें टेंशन, इस तरह करें इस्तेमाल, चटोरे हो जाएंगे घरवाले

2022-10-07 14:14:39 534

ज्यादापकगएहैंचावलनलेंटेंशनइसतरहकरेंइस्तेमालचटोरेहोजाएंगेघरवालेAustralia Job Vacancies: ऑस्ट्रेलिया में कर्मचारियों का पड़ा भयानक अकाल, कंपनियों को ढूंढने पर भी नहीं मिल रहे एम्प्लॉई******Highlights ऑस्ट्रेलिया के उद्योग जगत में वैकेंसी मई तिमाही में अभी तक के सबसे ऊचे स्तर पर पहुंच गईं। में कंपनियां कड़े श्रम बाजार के बीच कर्मचारियों को ढूढने के लिए संघर्ष कर रही हैं। ऑस्ट्रेलियन ब्यूरो ऑफ़ स्टैटिस्टिक्स (ABS) के नए सीजनल रूप से एडजस्ट किए हुए आंकड़ों के अनुसार, ऑस्ट्रेलिया में मई 2022 में 4,80,000 नौकरी खाली पड़ी थीं, जो फरवरी 2022 की तुलना में 58,000 से अधिक थीं। मई 2022 के आंकड़े फरवरी 2020 में 2,27,000 वैकेंसी के आकड़े से दोगुने ज्यादा थे।ABS के डाटा से पता चलता है कि निजी क्षेत्र की रिक्तियां फरवरी 2022 से 14.2% की बढ़ोत्तरी के साथ 4,39,100 पर थीं और सार्वजनिक क्षेत्र की रिक्तियां फरवरी 2022 से 9.4% की वृद्धि के साथ 41,000 थीं। ABS में लेबर स्टैटिस्टिक्स के प्रमुख ब्योर्न जार्विस ने कहा, “नौकरी की वैकेंसी की संख्या तीन महीनों में मई 2022 तक 14% बढ़कर लगभग आधा मिलियन तक पहुंच गई। यह कर्मचारियों की बढ़ती मांग को दर्शाता है, विशेष रूप से ग्राहकों का सामना करने वाली भूमिकाओं में, उद्योगों को अपने संचालन में परेशानी का सामना करना पड़ रहा है।" डाटा के अनुसार ऑस्ट्रेलिया में हायरिंग ने हाल के महीनों में सभी पूर्वानुमानों को पछाड़ दिया है, जिससे बेरोजगारी दर लगभग 50 सालों में 3.9% पर गिरकर सबसे कम हो गई है।महामारी के दौरान ऑस्ट्रेलिया में रिक्तियों में भारी वृद्धि बेरोजगार लोगों की संख्या में गिरावट के साथ हुई है। ब्योर्न जार्विस ने आगे कहा, "लिहाजा, मई 2022 में बेरोजगार लोगों और खाली पड़ी नौकरियों की संख्या लगभग समान थी (1.1 बेरोजगार लोग प्रति खाली नौकरी), जो कि इस आंकड़े की तुलना में महामारी की शुरुआत से पहले तीन गुना पर थी।"ऑस्ट्रेलिया के सभी राज्यों में से सबसे ज्यादा वैकेंसी विक्टोरिया में बढ़ी, जो तीन महीनों में मई 2022 तक 18% की वृद्धि पर पहुंच गई। विक्टोरिया के बाद न्यू साउथ वेल्स में रिक्तियां निकली जो आकंड़ों में 12 प्रतिशत पर रहीं। हालांकि सभी उद्योगों में महामारी से पहले की तुलना में नौकरी की रिक्तियां काफी अधिक थीं, उद्योगों के बीच क्वाटर्ली विकास का आंकड़ा अलग-अलग था। इस क्वार्टर में जिन इंडस्ट्रीज में सबसे ज्यादा रिक्तियों में वृद्धि हुई उनमें खुदरा व्यापार में 38%, सूचना मीडिया और दूरसंचार सेवाओं में 18% और कला और मनोरंजन के क्षेत्र में 16% थीं।यही एक कारण था कि रिजर्व बैंक ऑफ ऑस्ट्रेलिया (RBA) ने मई के बाद से दो बार ब्याज दरों में 0.85% की वृद्धि की है और अगले सप्ताह जुलाई की पॉलिसी मीटिंग में ब्याज दरों में 50 बेसिस प्वाइंट की बढ़ोतरी होने की संभावना है।

ज्यादापकगएहैंचावलनलेंटेंशनइसतरहकरेंइस्तेमालचटोरेहोजाएंगेघरवालेVastu Shastra : घर में होगा सुख-शांति का वास, आज ही लगाइए इस रंग के घोड़े की तस्वीर******Highlights वास्तु शास्त्र में आज इंदु प्रकाश से जानिए घर में घोड़े की तस्वीर या फिर मूर्ति किस रंग की होनी चाहिए। घोड़े के रंग से घर पर क्या प्रभाव पड़ता है।यूं तो सभी रंग के घोड़े प्रगति और पॉजिटिव एनर्जी के प्रतीक होते हैं, लेकिन घर में तस्वीर या मूर्ति के लिए सफेद रंग के घोड़ों की मूर्ति या तस्वीर का चुनाव करना ज्यादा बेहतर होता है। घोड़ा शक्ति और ऊर्जा का प्रतीक होता है और सफेद रंग शांति और शुद्धता का प्रतीक है। यह अशांत को शांत करने वाला, विद्या प्राप्ति में सहायक और जीवन में सकारात्मकता का संचार करने का प्रतीक है।यह हमारे मन और मस्तिष्क को शुद्ध करता है। यह हमें आध्यात्मिकता से जोड़े रखने में सहायक है। इसलिए घर में सफेद रंग के घोड़ों की तस्वीर या मूर्ति लगानी चाहिए। इसके अलावा कुछ अन्य महत्वपूर्ण बातें भी हैं। तस्वीर में घोड़े अलग-अलग दिशाओं में दौड़ते हुए नहीं होने चाहिए। सभी एक सीध में सामने की तरफ आते हुए होने चाहिए। वहीं मूर्ति रखते समय ध्यान दें कि घोड़ा बिना लगाम का होना चाहिए। घोड़े की गति कभी भी बाधित नहीं होनी चाहिए। आप घोड़ों की तस्वीर को दिवार पर लगाने के अलावा अपने ऑफिस डेस्कटॉप की स्क्रीन पर भी लगा सकते हैं।ज्यादापकगएहैंचावलनलेंटेंशनइसतरहकरेंइस्तेमालचटोरेहोजाएंगेघरवालेसुजुकी ने बनाया नया रिकॉर्ड, भारत में बेच डाली 50,000 से ज्यादा बाइक्स****** जापानी ऑटो कंपनी सुजुकी मोटर्स के भारत में मोटरसाइकल्स डिविजन सुजुकी मोटरसाइकल्स इंडिया प्राइवेट लिमिटेड (SMIPL) ने भारत में बाइक्स की बिक्री का नया रिकॉर्ड बनाया है। कंपनी की तरफ से दी गई जानकारी के मुताबिक सितंबर के दौरान SMIPL ने भारत में 50,785 बाइक्स की बिक्री की है जो एक रिकॉर्ड है, पहली बार कंपनी भारत में 50,000 से ज्यादा बाइक्स बेचने में कामयाब हुई है।निर्यात और घरेलू बिक्री को मिलाकर देखें तो सितंबर के दौरान सुजुकी ने कुल 57,469 बाइक्स की बिक्री की है जो पिछले साल की समान अवधि के मुकाबले करीब 33 फीसदी अधिक है और एक रिकॉर्ड है। इससे पहले अगस्त में कंपनी ने 56,745 बाइक्स की बिक्री की थी। वित्तवर्ष 2017-18 की पहली छमाही यानि अप्रैल से सितंबर के दौरान कंपनी कुल 2,81,182 बाइक्स की बिक्री कर चुकी है जो वित्तवर्ष 2016-17 की समान अवधि के मुकाबले करीब 42 फीसदी अधिक है।बीते सितंबर के दौरान सुजुकी ने भारत में अपने नेटवर्क को भी फैलाया है, कंपनी ने 13 नए डीलरशिप को शुरू किया है जिसके बाद भारत में कंपनी के डीलर्स की कुल संख्या बढ़कर 467 तक पहुंच गई है।

Over Cooked Rice Hacks : ज्यादा पक गए हैं चावल? न लें टेंशन, इस तरह करें इस्तेमाल, चटोरे हो जाएंगे घरवाले

ज्यादापकगएहैंचावलनलेंटेंशनइसतरहकरेंइस्तेमालचटोरेहोजाएंगेघरवालेMonsoon Session: टीएमसी सांसद ने लोकसभा में खाया कच्चा बैगन, LPG कीमतों में बढ़ोतरी को लेकर जताया विरोध******Highlights तृणमूल कांग्रेस(TMC) की सांसद काकोली घोष दस्तीदार ने सोमवार को लोकसभा में मंहगाई की चर्चा के बीच सरकार पर आरोप लगाने के एक अनोखा तरीका अपानाया। उन्होंने लोकसभा में दांत से कच्चा बैगन काट कर दो फाड़ कर दिया। इसके साथ ही उन्होंने आरोप लगाया कि सरकार लोगों को यह आदत डलवाना चाहती है कि वे चीजों को पकाकर नहीं, बल्कि कच्चा ही खाएं। बता दें कि सदन में नियम 193 के तहत महंगाई पर हुई चर्चा में भाग लेने के दौरान टीएमसी की सांसद काकोली घोष एक बैगन लेकर पहुंची थीं।टीएमसी सांसद ने कहा, ‘‘ईंधन के दाम में आग लगी हुई है। कभी-कभी लगता है कि क्या यह सरकार हमें कच्चा खाने की आदत डलवाना चाहती है?’’ इसके बाद तृणमूल कांग्रेस की सांसद ने बैगन को दांत से काटा और कहा, ‘‘ मैं कहती हूं, यह सब्जी मैं कच्चा खा जाती हूं क्योंकि ईंधन नहीं मिलता है। ऐसा इसलिए है क्योंकि कुछ महीनों में एलपीजी(LPG) सिलेंडर के दाम चार बार बढ़े हैं।’’ उन्होंने कहा, ‘‘सरकार लोगों को कच्चा खाने की आदत डलवाना बंद करे। एलपीजी की कीमत कम करे।’’टीएमसी सांसद काकोली ने यह आरोप भी लगाया कि सरकार महंगाई पर अंकुश लगाने के लिए कोई ठोस कदम नहीं उठा रही है। उन्होंने किसी का नाम लिए बिना कहा कि जब एक मंत्री विपक्ष में थीं तो उन्होंने सिलेंडर लेकर बहुत शोर-शराबा किया था। अब उन मंत्री जी की क्या राय है जब महिलाओं के पास सिलेंडर के पास पैसे नहीं है। काकोली ने कहा, ‘‘जब सिलेंडर का दाम 1100 रुपये हो गया है तो फिर गरीब और आम आदमी इसे कैसे खरीदेगा? सरकार को सिलेंडर की कीमत कम करनी चाहिए।’’ज्यादापकगएहैंचावलनलेंटेंशनइसतरहकरेंइस्तेमालचटोरेहोजाएंगेघरवालेFlood Threat Again In UP: यूपी में फिर से बाढ़ का खतरा, सीएम योगी के आदेश के बाद अलर्ट पर अधिकारी******Highlightsउत्तर प्रदेश में पिछले दिनों जोरदार बारिश होने के बाद अब भी मॉनसून की सक्रियता बरकरार है और अगले 24 घंटों के दौरान राज्य के पूर्वी हिस्सों में अनेक स्थानों पर फिर बारिश होने का अनुमान है। इसी के साथ राज्य में एक बार फिर बाढ़ का खतरा बढ़ गया है। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कुआनो नदी की बाढ़ के मद्देनजर इसके प्रभाव क्षेत्र में आने वाले नौ जिलों के पुलिस तथा प्रशासनिक अधिकारियों को बाढ़ राहत के पूरे इंतजाम करने के निर्देश दिए हैं। लखनऊ स्थित आंचलिक मौसम केंद्र ने राज्य के पूर्वी हिस्सों के 15 जिलों में अगले 24 से 48 घंटे के दौरान गरज चमक के साथ बारिश होने का अनुमान जताया है। राहत आयुक्त कार्यालय से रविवार को प्राप्त रिपोर्ट के मुताबिक कुआनो नदी गोंडा में खतरे के निशान से ऊपर बह रही है।ओवरफ्लो हुआ नदियों का पानीइसके अलावा घाघरा नदी बाराबंकी तथा अयोध्या में, शारदा नदी लखीमपुर खीरी में, राप्ती नदी श्रावस्ती में तथा बूढ़ी राप्ती सिद्धार्थनगर में खतरे के निशान से ऊपर बह रही है। राज्य सरकार के एक प्रवक्ता के मुताबिक मुख्यमंत्री योगी ने गोण्डा जिले में चन्द्रदीप घाट पर कुआनो नदी के खतरे के निशान को पार करने तथा नदी के जलस्तर में हो रही वृद्धि के मद्देनजर नदी के प्रवाह क्षेत्र से सम्बन्धित जिलों में अलर्ट के निर्देश दिए हैं। मुख्यमंत्री ने गोण्डा, बस्ती, अम्बेडकरनगर, संतकबीरनगर, गोरखपुर, आजमगढ़, देवरिया, मऊ, बलिया, अयोध्या जिलों के जिलाधिकारियों और पुलिस प्रमुखों को निर्देश दिए हैं कि बाढ़ के सम्भावित खतरे को देखते हुए गांवों और शहरों में लोगों की सुरक्षा, बचाव एवं राहत के लिए व्यवस्थित इंतज़ाम कर लिए जाएं। राहत आयुक्त कार्यालय की रिपोर्ट के मुताबिक इस वक्त गोंडा, बहराइच, कुशीनगर, मऊ और सीतापुर में कुल 31 गांव बाढ़ की चपेट में हैं।बाढ़ की चपेट में आए कई गांवशनिवार तक लखीमपुर खीरी, कुशीनगर और मऊ के पांच गांव ही सैलाब से प्रभावित थे। प्रदेश में पिछले महीने और इस महीने के शुरू में 12 से ज्यादा जिलों के 1000 से अधिक गांव बाढ़ से प्रभावित हुए थे, जिससे फसलों को व्यापक नुकसान हुआ था। मौसम केंद्र की रिपोर्ट के मुताबिक प्रदेश में मानसून सक्रिय बना हुआ है और 24 घंटों के दौरान प्रदेश में कुछ स्थानों पर भारी बारिश भी हुई। इस दौरान बहेड़ी (बरेली) में सबसे ज्यादा 18 सेंटीमीटर वर्षा दर्ज की गई। इसके अलावा देवरिया में 15, निचलौल (महराजगंज) में 13, बिलारी (मुरादाबाद) में सात, रामपुर में छह, महराजगंज, चंद्रदीप घाट (गोरखपुर), नौतनवा (महराजगंज) गायघाट और बलिया में पांच-पांच सेंटीमीटर बारिश दर्ज की गई। प्रदेश के अनेक हिस्सों में पिछले दो दिन से हुई बारिश से तापमान में खासी गिरावट महसूस की गई। पिछले 24 घंटे के दौरान प्रदेश के गोरखपुर, लखनऊ, मुरादाबाद, अयोध्या, कानपुर, बरेली तथा झांसी मंडलों के विभिन्न जिलों में दिन का तापमान सामान्य से कम रहा।ज्यादापकगएहैंचावलनलेंटेंशनइसतरहकरेंइस्तेमालचटोरेहोजाएंगेघरवालेPHOTOS: कंगना रनौत, एकता कपूर संग पहुंची बंगला साहिब गुरुद्वारा, मगर इस चीज ने खींचा फैंस का ध्यान******Highlightsएकता कपूर और क्वीन आज रियलिटी शो 'लॉक अप' के ट्रेलर लॉन्च के लिए दिल्ली पहुंची। ट्रेलर इतना धमाकेदार है कि लोगों को सोचने पर मजबूर कर दिया कि ये किस तरह का शो होगा। यह अपनी तरह का एक ऐसा अनोखा रियलिटी शो होने जा रहा है जिसे दर्शकों ने इससे पहले कभी नहीं देखा होगा। ऐसे में, रिलीज़ से पहले निर्माता एकता कपूर और होस्ट कंगना रनौत ने अपनी टीम के साथ आशीर्वाद लेने के लिए गुरुद्वारा बंगला साहिब का रुख किया है।एकता कपूर रियलिटी शो 'लॉक अप' के साथ अपनी धमाकेदार वापसी करने के लिए तैयार हैं जिसे बॉलीवुड की क्वीन कंगना रनौत होस्ट करेंगी। टीम शो के साथ अपना सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करने का कोई मौका नहीं छोड़ रही है। शो की सफल रिलीज सुनिश्चित करने के लिए, टीम ने आशीर्वाद लेने के लिए दिल्ली में गुरुद्वारा बंगला साहिब का दौरा किया है जिसके बाद टीम द्वारा शो का ट्रेलर लॉन्च किया जाएगा। यहां कंगना रनौत के लुक और सूट ने लोगों का ध्यान खींचा। ब्लू सूट में कंगना बेहद प्यारी लग रही थीं।यह शो 27 फरवरी 2022 को प्रीमियर के लिए तैयार है। ऑल्ट बालाजी और एमएक्स प्लेयर द्वारा इस शो को 24x7 अपने-अपने प्लेटफॉर्म पर लाइव स्ट्रीम किया जाएगा जहाँ दर्शक प्रतियोगियों के साथ सीधे बातचीत कर सकेंगे। शो के बारे में अधिक अपडेट के लिए ऑल्ट बालाजी और एमएक्स प्लेयर के साथ बने रहें।

Over Cooked Rice Hacks : ज्यादा पक गए हैं चावल? न लें टेंशन, इस तरह करें इस्तेमाल, चटोरे हो जाएंगे घरवाले

ज्यादापकगएहैंचावलनलेंटेंशनइसतरहकरेंइस्तेमालचटोरेहोजाएंगेघरवालेओलंपिक में पहले दो दिन में भारतीय निशानेबाजों के सामने पदक जीतने का मौका******नई दिल्ली। ओलंपिक में अपनी छाप छोड़ने को बेताब भारतीय निशानेबाज तोक्यो में अगले साल पहले दो दिन में ही पदक जीत सकते हैं क्योंकि अधिकांश शीर्ष निशानेबाज पहले और दूसरे दिन ही रेंज पर उतरेंगे। दुनिया की नंबर एक निशानेबाज अपूर्वी चंदेला और सातवीं रैंकिंग वाली अंजुम मुद्गिल 25 जुलाई को महिलाओं की 10 मीटर एयर राइफल स्पर्धा में भारत का प्रतिनिधित्व करेंगी।अंतरराष्ट्रीय निशानेबाजी खेल महासंघ ने सोमवार को कार्यक्रम जारी किया। इसी दिन सौरभ चौधरी और अभिषेक वर्मा भी पुरूषों की 10 मीटर एयर पिस्टल में चुनौती पेश करेंगे। दूसरे दिन 26 जुलाई को मनु भाकर और यशस्विनी सिंह देसवाल महिलाओं की 10 मीटर एयर पिस्टल में उतरेंगी बशर्ते कोटा की अदल बदल ना हो।पुरूषों की 10 मीटर एयर राइफल में अभी तक भारत के दिव्यांश सिंह पंवार ने ही कोटा हासिल किया है। भारत के लिये अब तक देसवाल, संजीव राजपूत, मुद्गल, चंदेला, चौधरी, वर्मा, दिव्यांश, राही सरनोबल और भाकर तोक्यो ओलंपिक का कोटा हासिल कर चुके हैं।महिलाओं की 10 मीटर एयर राइफल में चंदेला विश्व रैंकिंग में नंबर एक और इलावेनिल दूसरे स्थान पर हैं। तीन मिश्रित टीम टूर्नामेंटों के प्रारूपों को भी प्रशासनिक परिषद ने मंजूरी दे दी। टीम का हर सदस्य पहले 30 मिनट में 30 शाट लगायेगा।पहले क्वालीफिकेशन दौर से शीर्ष आठ रैंकि वाली टीमों के मूल अंक रहेंगे। दूसरे राउंड में टीम के हर सदस्य को 20 मिनट में 20 शाट मिलेंगे। पहले और दूसरे रैंक वाली टीम स्वर्ण पदक के मुकाबले में आमने सामने होंगी।ज्यादापकगएहैंचावलनलेंटेंशनइसतरहकरेंइस्तेमालचटोरेहोजाएंगेघरवालेवजन घटाने में कारगर है कच्ची हल्दी की चाय, डायबिटीज रोगियों के लिए भी फायदेमंद******सदियों से हल्दी का इस्तेमाल अच्छे स्वास्थ्य के लिए किया जा रहा है। यह एक आयुर्वेदिक औषधि है, जो शरीर को रोग-मुक्त रखने का काम कर सकती है। हल्दी को कई तरह से यूज किया जा सकता है। हल्दी का प्रयोग रोज ही खाने में होता है, लेकिन शायद ही आप जानते हों कि इसकी चाय भी बनती है। जी हां हल्दी की चाय सेहत के लिए अमृत से कम नहीं है। कच्ची हल्दी की चाय यदि रोज अपनी डाइट में शामिल कर लिया जाए तो कई गंभीर रोग भी ठीक हो जाते हैं तो चलिए हम आपको बताते हैं हल्दी की चाय पीने के फायदे-हल्दी में पाए जाने वाले गुण आपकी पाचन क्रिया और मेटाबॉलिज्म के स्तर को बढ़ाकर आपका वजन घटाने में मदद करते हैं। हल्दी आपकी शरीर में या कमर के आस-पास की एक्स्ट्रा चर्बी को भी घटाने में काफी मदद करती है। एक शोध की मानें तो हल्दी को पानी में मिलाकर पीने से भी आप वजन कम कर सकते हैं।कच्ची हल्दी सूजन को कम करने में जबरदस्त असर दिखाती है। रोज यदि आप कच्ची हल्दी, अदरक और तुलसी की चाय पीएं तो ये आपके शरीर के सूजन, गठिया के दर्द और वाटर रिटेंशन की समस्या को दूर कर सकती है। हल्दी में पाया जाने वाला करक्यूमिन दर्द और सूजन को कम करने में भी कारगर है।कैंसर के जोखिम से बचने के लिए हल्दी की चाय का सेवन किया जा सकता है। इस विषय पर हुए शोध से पता चला है कि हल्दी में पाया जाने वाला करक्यूमिन ट्यूमर सेल्स को कम करके उसके प्रसार को रोकने में मदद कर सकता है। इसमें एंटीकैंसर गुण मौजूद होते हैं। हल्दी में पाया जाने वाला यह गुण प्रोस्टेट, कोलन, स्तन, अग्नाशय और मस्तिष्क के कैंसर के जोखिम से बचाव कर सकता है।हल्दी की चाय इम्यूनिटी बढ़ा कर शरीर को अंदर से मजबूत करती है। आम बीमारियां ही नहीं गंभीर बीमारी भी इस हल्दी की चाय पीने से दूर रहते हैं।डायबिटीज से ग्रस्त हैं तो आपको कच्ची हल्दी की चाय का सेवन रोज करना चाहिए। ये ब्लड मे ग्लूकोज के लेवल को मेंटेन रखती है और इंसुलीन की मात्रा शरीर में बढ़ाती है। वहीं इसमें एंटी इंफ्लामेटरी और एंटी ऑक्सीडेंट गुण पाए जाते हैं, जो आपके टाइप -2 डायबिटीज को नियंत्रित करने में भी सहायक माने जाते हैं।अगर आप भी अर्थराइटिस के दर्द से परेशान हैं तो हल्दी की चाय का सेवन जरूर करें। हल्दी में करक्यूमिन नामक कंपाउंड पाया जाता है। यह सूजन कम करने में काफी मददगार होते हैं। हल्दी की चाय में यदि आप अदरक की मात्रा डालते हैं तो अदरक के भी एंटी इंफ्लामेटरी गुण होते हैं, जो आपके दर्द को कम करने में मदद करते हैं।अल्जाइमर एक याद्दाश्त से जुड़ी समस्या है। इससे राहत पाने के लिए आप हल्दी की चाय का सहारा ले सकते हैं। हालांकि ऐसा कोई प्रमाण तो नही है कि हल्दी का सेवन आपको अल्जाइमर की समस्या से पूरी तरह निजात दिलाता है, लेकिन इसमें पाए जाने वाला करक्यूमिन आपके डिमेंशिया और अल्जाइमर के लक्षणों को कम करने में मदद करता है।हल्दी का उपयोग हृदय को स्वस्थ रखने में भी सहायक हो सकता है। शोध के अनुसार सूजन और ऑक्सीडेटिव स्ट्रेस के कारण हार्ट फेल होने का जोखिम बढ़ सकता है। यहां हल्दी की चाय के कुछ हद तक फायदे देखे जा सकते हैं। दरअसल, हल्दी का सबसे महत्वपूर्ण घटक करक्यूमिन में एंटीइंफ्लेमेटरी और एंटीऑक्सीडेंट प्रभाव होते हैं। ये गुण सूजन और ऑक्सीडेटिव स्ट्रेस को कम करने में मददगार हो सकते हैं, जिस कारण इसके उपयोग से हृदय रोग के जोखिम को दूर किया जा सकता है।हल्दी की चाय बनाने के लिए सबसे पहले दो कप पानी उबाल लें। इस पानी में हल्दी की एक इंच लम्बी जड़ डाल दें, अगर आपके पास हल्दी का जड़ उपलब्ध नहीं है तो उसमे एक चम्मच हल्दी का पाउडर मिला दें। इसके बाद इस पानी को 2 से 3 मिनट तक उबलने के लिए छोड़ दें। इसके बाद इस मिश्रण को एक कप में डालकर शहद और काली मिर्च पाउडर मिला लें। इस चाय को रोजाना सुबह नाश्ते से पहले पियें।

Over Cooked Rice Hacks : ज्यादा पक गए हैं चावल? न लें टेंशन, इस तरह करें इस्तेमाल, चटोरे हो जाएंगे घरवाले

ज्यादापकगएहैंचावलनलेंटेंशनइसतरहकरेंइस्तेमालचटोरेहोजाएंगेघरवालेAaj Ka Panchang 1 April 2022: जानिए शुक्रवार का पंचांग, शुभ मुहूर्त, राहुकाल और सूर्योदय-सूर्यास्त का समय******आज चैत्र कृष्ण पक्ष की उदया तिथि अमावस्या और शुक्रवार का दिन है। अमावस्या तिथि आज सुबह 11 बजकर 53 मिनट तक रहेगी। आज स्नान-दान की अमावस्या है। आज सुबह 9 बजकर 37 मिनट तक ब्रह्म योग रहेगा। साथ ही आज सुबह 10 बजकर 40 मिनट तक उत्तरा भाद्रपद नक्षत्र रहेगा । आचार्य इंदु प्रकाश से जानते हैं शुक्रवार का शुभ मुहूर्त, राहुकाल, पंचांग और सूर्योदय-सूर्यास्त का समय।सुबह 11 बजकर 53 मिनटआज पूरा दिन सुबह 9 बजकर 37 मिनट तकआज सुबह 10 बजकर 40 मिनट तककाम शुरू करते वक्त राहुकाल का ध्यान रखना बेहद ज़रूरी है। राहुकाल के दौरान कोई काम शुरू नहीं करना चाहिये, अगर कोई काम पहले से चल रहा है तो उसे जारी रख सकते हैं। आइए जानते हैं आपके शहर में कब से कब तक रहेगा राहुकाल।सुबह 10:52 से दोपहर 12:25 तकसुबह 11:10 से दोपहर 12:43 तकसुबह 10:53 से दोपहर 12:27 तकसुबह 10:37 से दोपहर 12:11 तकसुबह 10:51 से दोपहर 12:24 तकसुबह 10:08 से दोपहर पहले 11:41 तकसुबह 11:11 से दोपहर 12:43 तकसुबह 10:41 से दोपहर 12:13 तक- सुबह 6 बजकर 11 मिनट परशाम 6 बजकर 38 मिनट पर

ज्यादापकगएहैंचावलनलेंटेंशनइसतरहकरेंइस्तेमालचटोरेहोजाएंगेघरवालेएक अमेरिकी डॉलर के मुकाबले भारतीय रुपया गुरुवार को 13 पैसा मजबूत होकर 64.49 पर खुला******गुरुवार केकारोबारी सत्र में भारतीय रुपए की शुरुआत मजबूती के साथ हुई है। एक अमेरिकी डॉलर के मुकाबले भारतीय रुपया 13 पैसा मजबूतहोकर 664.49 पर खुला। जबकि, मंगलवार केकारोबारी सत्र में रुपया 31 पैसे की बड़ी गिरावट के साथ तीन सप्ताह के निम्न स्तर 64.62 रुपए प्रति डॉलर पर बंद हुआ था।डॉलर की मजबूती के बीच आयातकों की भारी डॉलर मांग के कारण मंगलवार कोरुपया इस वर्ष की सबसे बड़ी गिरावट को दर्शाता बंद हुआ। रुपया मंलगवार को 31 पैसे की जबर्दस्त गिरावट के साथ तीन सप्ताह के निम्न स्तर 64.62 रुपए प्रति डॉलर पर बंद हुआ। रुपए का यह 18 अप्रैल के बाद का सबसे निचला बंद स्तर था। निवेशकों की उम्मीद बढ़ी है कि फेडरल रिजर्व अगले महीने ब्याज दरों में वृद्धि करेगा जिससे डॉलर में मजबूती बढ़ी और मजबूत दिखने वाला रुपया एक बार फिर लुढ़कता दिखाई दिया।ज्यादापकगएहैंचावलनलेंटेंशनइसतरहकरेंइस्तेमालचटोरेहोजाएंगेघरवालेनहीं बढ़ी महंगाई : अगस्त में थोक महंगाई दर 1.08% पर बरकरार, आम लोगों को राहत******wholesale price index India's August inflation remains unchanged at 1.08% अगस्त 2019 में भारत की बिना किसी बदलाव के 1.08% पर बरकरार है। सोमवार को वाणिज्य और उद्योग मंत्रालय ने आंकड़े जारी दिए हैं। एक महीने पहले जुलाई में भी थोकमहंगाईदर इतनी ही थी। एक साल पहले की समान अविध यानी, अगस्त 2018 में थोक महंगाई दर 4.62 फीसदी थी। सब्जियों, ईंधन और बिजली से जुड़े सामानों की कीमतों में कमी के कारण थोक महंगाई दर में लगातार तीसरे महीने गिरावट दर्ज की गई है। इससे पहले पिछले साल जुलाई 2018 में महंगाई दर 5.27 फीसदी पर थी। चालू वित्त वर्ष में अब तक की अवधि में यानी अप्रैल-अगस्त 2019 में औसत थोक महंगाई दर 1.25 फीसदी रही। यह दर पिछले साल की समान अवधि में 3.27 फीसदी थी।खाद्य वस्तुओं की महंगाई दर अगस्त महीने में बढ़कर 7.67 प्रतिशत पहुंच गयी जो इस साल जुलाई में 6.15 प्रतिशत थी। मुख्य रूप से सब्जी और अंडा, मांस जैसे अधिक प्रोटीन वाले खाद्य पदार्थों के दाम बढ़ने से खाद्य वस्तुओं की महंगाई दर बढ़ी है। सब्जियों की महंगाई दर भी आलोच्य महीने में बढ़कर 13.07 प्रतिशत पर पहुंच गयी जो इससे पूर्व इसी वर्ष जुलाई में 10.67 प्रतिशत थी। अधिक प्रोटीन वाले खाद्य पदार्थों की मुद्रास्फीति अगस्त महीने में बढ़कर 6.60 प्रतिशत पर आ गयी जो जुलाई में 3.16 प्रतिशत थी। हालांकि, ईंधन और बिजली की महंगाई दर में 4 प्रतिशत की गिरावट आयी।इससे पहले जून में थोक महंगाई दर पिछले 23 महीनों के निम्न स्तर पर 2.02 फीसदी पर आ गई थी। वहीं पिछले साल जून में थोक मूल्य पर आधारित मुद्रास्फीति 5.68 फीसदी पर रही थी। तब लगातार तीसरे महीने महंगाई दर में गिरावट दर्ज की गई थी।

ज्यादापकगएहैंचावलनलेंटेंशनइसतरहकरेंइस्तेमालचटोरेहोजाएंगेघरवालेलोकसभा अध्यक्ष सुमित्रा महाजन BJP से नाराज? कहा नहीं लड़ेंगी चुनाव****** भारतीय जनता पार्टी की वरिष्ठ नेता और लोकसभा अध्यक्ष ने BJP से नाराज होकर चुनाव नहीं लड़ने का ऐलान किया है। सुमित्रा महाजन ने शुक्रवार को पत्र लिखकर घोषणा कर दी कि वह इस बार लोकसभा चुनाव नहीं लड़ेंगी। उन्होंने भाजपा से अभी तक से उम्मीदवार घोषित नहीं किए जाने पर सवाल पूछा है और चुनाव नहीं लड़ने का फैसला किया है।सुमित्रा महाजन ने अपने पत्र में लिखा 'भारतीय जनता पार्टी ने आज दिनांक तक इंदौर में अपना उम्मीदवार घोषित नहीं किया है, यह अनिर्णय की स्थिति क्यों है? संभव है कि पार्टी को निर्णय लेने में कुछ संकोच हो रहा है, हालांकि मैने पार्टी में वरिष्ठों से इस संदर्भ में बहुत पहले ही चर्चा की थी और निर्णय उन्हीं पर छोड़ दिया था। लगता है उनके मन में अब भी कुछ असंमजस है। इसलिए मैं घोषणा करती हूं, कि अब मुझे लोकसभा का चुनाव नहीं लड़ना है, अत: पार्टी अपना निर्णय मुक्त मन से करे, नि:संकोच होकर करे।'सुमित्रा महाजन इंदौर की जनता का धन्यवाद भी किया है और पार्टी से आग्रह किया है कि आने वाले दिनों में पार्टी जल्द उम्मीदवारी का फैसला करे ताकि असंमजस की स्थिति साफ होसके। मध्य प्रदेश में इंदौर लोकसभा सीट भारतीय जनता पार्टी का गढ़ रही है और सुमित्रा महाजन इस सीट से लगातार 8 बार सांसद चुनकर आई हैं। 16वीं लोकसभा में सुमित्रा महाजन को लोकसभा अध्यक्ष नियुक्त किया गया था।2014 के लोकसभा चुनाव में सुमित्रा महाजन ने इंदौर लोकसभा सीट भारी मतों से जीती थी, उन्हें कुल 8,54,972 वोट मिले थे, दूसरे नंबर पर कांग्रेस के सत्यनारायण पटेल थे जिन्हें 3,88,071 वोट मिले थे।ज्यादापकगएहैंचावलनलेंटेंशनइसतरहकरेंइस्तेमालचटोरेहोजाएंगेघरवालेनोटबंदी ने बढ़ाई सरकार की कमाई, 6 महीने में डायरेक्ट टैक्स की ऊगाही 16% बढ़ी****** नोटबंदी की वजह से बढ़ी टैक्स चुकाने वालों की संख्या से इस साल सरकार को फायदा हुआ है, सरकार की टैक्स उगाही में पिछले साल के मुकाबले करीब 16 फीसदी की बढ़ोतरी दर्ज की गई है। केंद्रीय वित्तमंत्रालय की तरफ से जारी किए गए आंकड़ों के मुताबिक चालू वित्तवर्ष 2017-18 की पहली छमाही के दौरान डायरेक्ट टैक्स उगाही 15.8 फीसदी बढ़कर 3.86 लाख करोड़ रुपए दर्ज की गई है।सरकार ने वित्तवर्ष 2017-18 के लिए 9.8 लाख करोड़ रुपए के कुल बजट अनुमान का डायरेक्ट टैक्स से उगाही का जो लक्ष्य निर्धारित किया हुआ था वह 3.86 लाख करोड़ रुपए की उगाही के साथ 6 महीने में 39.4 फीसदी पूरा हुआ है।वित्तमंत्रालय के मुताबिक अप्रैल से सितंबर के दौरान डायरेक्ट टैक्स की कुल उगाही 4.66 लाख करोड़ रुपए दर्ज की गई थी जो पिछले साल की समान अवधि के मुकाबले 10.3 फीसदी अधिक है, कुल उगाही में से 79,660 करोड़ रुपए वापस रिफंड किए गए हैं।एडवांस टैक्स से हुई उगाही की बात करें तो अप्रैल से सितंबर के दौरान इस साल 1.77 लाख करोड़ रुपए एडवांस टैक्स के तौर पर जमा हुऐ हैं जो पिछल साल की समान अवधि के मुकाबले 11.5 फीसदी अधिक है। इसके तहत कार्पोरेट इनकम एडवांस टैक्स में 8.1 फीसदी की बढ़ोतरी दर्ज की गई है जबकि पर्सनल इनकम टैक्स एडवांस टैक्स में 30 फीसदी से ज्यादा बढ़ोतरी हुई है। नोटबंदी की वजह से ही पर्सनल इनकम टैक्स का दायरा बढ़ा है।

ज्यादापकगएहैंचावलनलेंटेंशनइसतरहकरेंइस्तेमालचटोरेहोजाएंगेघरवालेअभिषेक बच्चन की फिल्म 'दसवीं' से रिलीज किया गया नया सॉन्ग 'मचा मचा'******अभिषेक बच्चन की आने वाली फिल्म 'दसवीं' का नया गाना 'मचा मचा' शुक्रवार को रिलीज किया गया। 'मचा मचा' में अभिषेक काफी मसाला मूड में दिखाई दे रहे है। यह गीत पूरी तरह से फिल्म के मनोरंजक वाइब को कैप्चर करता है, जिसमें अभिनेता अपनी सिग्नेचर मूंछों को शाही स्वैग में घुमाते भी दिखाई दे रहे हैं।फिल्म एक अनपढ़, भ्रष्ट और बॉम्बबास्टिक नेता की कहानी बताती है, जो जेल में कैद रहते हुए शिक्षा के जादू की खोज करता है। जो चीज 'मचा मचा' को और भी मजेदार बनाती है, वह है अनोखे देसी स्वाद वाला फंकी रैप।सचिन-जिगर द्वारा रचित इस गाने के बोल अमिताभ भट्टाचार्य ने लिखे हैं। मेलो डी के रैप के साथ मीका सिंह, दिव्या कुमार और सचिन-जिगर ने गाने को अपनी आवाज दी है।दिनेश विजान और बेक माई केक फिल्म्स द्वारा निर्मित अभिषेक बच्चन, यामी गौतम और निम्रत कौर अभिनीत, तुषार जलोटा द्वारा निर्देशित एक मैडॉक फिल्म्स प्रोडक्शन, 7 अप्रैल से जियो सिनेमा और नेटफ्लिक्स पर स्ट्रीमिंग होगी।ज्यादापकगएहैंचावलनलेंटेंशनइसतरहकरेंइस्तेमालचटोरेहोजाएंगेघरवाले9.5 लाख श्रमिकों को मिलेगा यूपी में रोजगार, कल उद्योग संगठनों के साथ एग्रीमेंट करेगी योगी सरकार******कोरोना संकट के बीच देश भर में मजदूरों का महा प्रवास जारी है। 25 लाख से ज्यादा श्रमिक रेल, बसों या पैदल चलते हुए उत्तर प्रदेश पहुंचे हैं। मजदूरों की आमद को एक मौके के रूप में देख रही यूपी की योगी सरकार ने मजदूरों के लिए रोजगार की व्यवस्था शुरू कर दी है। अब सीएम योगी के प्रयास का नतीजा भी सामने आ रहा है। शुक्रवार को यूपी सरकार विभिन्न औद्योगिक संगठनों के साथ बड़े करार करने जा रही है। इसके तहत राज्य में आए मजदूरों के लिए 9.5 लाख रोजगारों की व्यवस्था की जाएगी।उत्तर प्रदेश सरकार से प्राप्त जानकारी के अनुसार इंडियन इंड्रस्टीज एसोसियेशन, नरडेको (नेशनल रीयल इस्टेट डेवलपमेंट काउंसिल), सीआईआई और यूपी सरकार के बीच कल 9.5 लाख कामगारों व श्रमिकों के लिए बड़ा करार होगा। बता दें कि इंडियन इंड्रस्टीज एसोसियेशन व सीआईआई, एमएसएमई ईकाइयों का समूह है वहीं नरडेको रीयल इस्टेट संस्थानों का समूह है।सीएम योगी ने पहले ही राज्य के अधिकारियों से मजदूरों की स्किल मैपिंग करने के आदेश दे दिए थे। की इस स्किल मैपिंग की मुहिम को कामयाबी भी मिली है। इंडियन इंट्रस्टीज एसोसियेशन ने 5 लाख श्रमिकों की मांग की है। वहीं नरडेको ने 2.5 लाख श्रमिक मांगे हैं। दूसरी ओर सीआईआई ने 2 लाख कामगार व श्रमिकों की मांग की है।यह भी पढ़ें:बता दें कि यूपी सरकार के सर्वोच्च अधिकारियों की टीम – 11 की बैठक में सीएम योगी ने कामगारों व श्रमिकों को तेजी से रोजगार देने की योजना बनाई थी। सीएम योगी ने – हर हाथ को काम, हर घर में रोजगार मिशन शुरू किया है। इसके तहत स्किल़्ड मैनपावर और इकाईयों में इनकी जरूरत का साफ्टवेयर तैयार हो रहा है। साफ्टवेयर के जरिए स्किल मैपिंग का काम तेजी से हो पाएगा। एक साथ स्किल्ड मैनपावर मिलने से भी उधोगों को भी फायदा होगा।

नवीनतम उत्तर (2)
2022-10-07 14:11
उद्धरण 1 इमारत
जम्मू-कश्मीर में 2018 में 328 बार आतंकवादी घुसपैठ की कोशिश, बीते 5 साल में सबसे ज्यादा: गृह मंत्रालय******पाकिस्तान स्थित आतंकवादी समूहों ने 2018 में में 328 बार घुसपैठ की कोशिश की, जो बीते पांच साल में सबसे अधिक है। इनमें से 143 प्रयासों में वे सफल रहे। गृह मंत्रालय की वार्षिक रिपोर्ट में यह जानकारी दी गई है। मंत्रालय शुक्रवार को उपलब्ध 2018-19 की रिपोर्ट में कहा गया है कि जम्मू-कश्मीर में बीते साल 257 आतंकवादी मारे गए और 91 सुरक्षाकर्मी शहीद हुए, जो बीते पांच साल में सर्वाधिक है।रिपोर्ट के अनुसार इस अवधि के दौरान 39 आम लोगों की भी मौत हुई। रिपोर्ट में कहा गया है कि पाकिस्तान स्थित आतंकवादी समूहों ने 2018 में 328 बार जम्मू-कश्मीर में घुसने की कोशिश की, जिनमें से 143 प्रयासों में वे सफल रहे। रिपोर्ट के अनुसार 2017 में घुसपैठ के 419 प्रयास किये गए, जिनमें से 136 सफल रहे। 2016 में ऐसी 371 कोशिशें की गईं, जिनमें से 119 सफल रहीं। वहीं 2015 में 121 बार घुसपैठ का प्रयास किया गया, जिनमें से 33 में उन्हें सफलता मिली। 2014 में 222 बार घुसपैठ की कोशिश हुई और 65 कोशिशें सफल रहीं।रिपोर्ट के अनुसार 2018 में जम्मू-कश्मीर में हुई 614 आतंकी घटनाओं में कुल 257 आतंकवादी मारे गए, 91 सुरक्षाकर्मी शहीद हुए और 39 लोगों की जान चली गई। रिपोर्ट के अनुसार जम्मू-कश्मीर में 2018 में सुरक्षाकर्मियों की शहादत, आतंकवादियों के ढेर होने और आतंकी घटनाओं के आंकड़े बीते पांच साल में सबसे ज्यादा रहे। वहीं 2017 में 342 आतंकी घटनाएं हुईं, जिनमें 213 आतंकवादी मारे गए, 80 सुरक्षाकर्मी शहीद हुए और 40 नागरिकों की मौत हुई।इसी प्रकार 2016 में हुईं 322 आतंकी घटनाओं में 150 आतंकवादी मारे गए, 82 सुरक्षाकर्मी शहीद हुए और 15 आम लोगों की मौत हुई जबकि 2015 में 208 आतंकी घटनाएं हुईं, जिनमें 108 आतंकवादी मारे गए, 39 सुरक्षाकर्मी शहीद हुए और 17 लोगों की जान गई। रिपोर्ट में कहा गया है कि 2014 में जम्मू-कश्मीर 222 आतंकी घटनाएं हुईं, जिनमें 110 आतंकवादी ढेर हुए, 47 सुरक्षाकर्मी शहीद हुए और 28 आम लोगों की मौत हुई। गृह मंत्रालय की वार्षिक रिपोर्ट में कहा गया है, "जम्मू-कश्मीर में आतंकवाद की शुरुआत (1990 में) के बाद से 31 मार्च 2019 तक 14,024 लोगों की मौत हो चुकी है और 5,273 सुरक्षाकर्मी शहीद हुए हैं।
2022-10-07 13:01
उद्धरण 2 इमारत
इटली भूकंप में मृतकों की संख्या बढ़कर 247 हुई****** मध्य में बुधवार को आए भूकंप में मृतकों की संख्या बढ़कर 247 हो गई है। भूकंप की तीव्रता रिक्टर पैमाने पर 6.2 मापी गई। 'बीबीसी' ने विभाग के अधिकारियों के हवाले से बताया कि भूकंप में 360 से अधिक लोग घायल हो गए और अभी भी कई लोग मलबे के नीचे दबे हैं। बचाव कार्यो के लिए 4,300 लोगों को तैनात किया गया है।स्वास्थ्य अधिकारियों का कहना है कि कुछ घायलों की हालत गंभीर होने की वजह से मृतकों की संख्या बढ़ भी सकती है।इससे पहले, प्रधानमंत्री मातेओ रेन्जी ने 120 लोगों के मारे जाने और 386 के घायल होने की बात कही थी। रेन्जी ने चेताते हुए कहा था, "यह अंतिम आंकड़ा नहीं है।"कई लोगों के इमारत के मलबे में दबे होने की आशंका है जबकि बचावकर्मी दूरस्थ गांवों तक पहुंचने का प्रयास कर रहे हैं। सीएनएन की रिपोर्ट के मुताबिक, एमाट्रिस अपने परंपरागत एमाट्रिसियाना पास्ता के लिए जाना जाता है और इस सप्ताहांत में यह शहर सांस्कृतिक महोत्सव की तैयारियों की व्यस्त था।भूकंप के केंद्र के समीप वाले गांव में सैंकड़ों इमारतें मलबे में तब्दील हो गयीं । भूकंप की तीव्रता 6.0 से 6.2 के बीच थी। यह भूकंप उमब्रिया, मार्चे और लाजियो के बीच बसे दूरवर्ती इलाकों में साल के ऐसे समय में आया जब स्थानीय लोगों के अलावा पर्यटक भी काफी संख्या में यहां आए हुए थे । अधिकतर पीडि़त रोम से हैं। यह इलाका ला अकिला से थोड़ी ही दूर उत्तर में है जहां 2009 में आए भूकंप में करीब 300 लोग मारे गए थे । ज्यादातर मौतें अमात्रीस , एकुमोली और अरकाता डेल तोरंतो गांवों और उनके आसपास के इलाकों में हुई हैं । 69 वर्षीय गुइदो बोरदो अपने बहन और उसके पति को खो चुके हैं । ये लोग एकुमोली के समीप इलिसिया गांव में अपने हालीडे होम में फंस गए थे ।भूकंप से उम्बि्रया, मारचे और लाजियो बुरी तरह प्रभावित हुए हैं। एमात्रीस के मेयर सेर्गियो पिरोजी ने कहा, आधा गांव तबाह हो गया है। निरीक्षण के दौरान ऐसा लग रहा था जैसे किसी ने क्षेत्र में बमबारी कर दी हो। पोप फ्रांसिस ने सेंट पीट्स बर्ग में अपना साप्ताहिक कार्यक्रम रोक कर हादसे पर शोक जताया। बोरदो ने बताया, उनकी कोई आवाज सुनायी नहीं दे रही है । हमें केवल उनकी बिल्लियों की आवाजें सुनायी दे रही हैं । मैं वहां पर नहीं था । जैसे ही भूकंप आया , मैं यहां भागा । लोगों ने मेरी बहन के बच्चों को मलबे से निकाल लिया । वे अब अस्पताल में हैं । जिस समय तड़के तीन बजकर 36 मिनट पर भूकंप आया यह पर्यटकों से भरा हुआ था। तीन मिनट बाद गांव के 13वीं सदी के टावर पर लगी घड़ी रूक गयी।
2022-10-07 12:27
उद्धरण 3 इमारत
Live: यूपी में पंचायत चुनावों के लिए मतगणना हुई शुरू, जल्‍द आएंगे परिणाम सामने****** उच्चतम न्यायालय द्वारा उत्तर प्रदेश में पंचायत चुनाव में मतगणना पर रोक लगाने से शनिवार को इनकार करने के बाद मतों की गिनती रविवार को सुबह 8 बजे से शुरू हो गई है। राज्‍य निर्वाचन आयोग ने उम्मीदवारों और अभिकर्ताओं को स्‍पष्‍ट हिदायत दी है कि मतगणना केंद्रों में उन्हें ही प्रवेश मिलेगा जिनकी कोविड-19 की रिपोर्ट निगेटिव होगी।राज्‍य निर्वाचन आयोग ने कहा कि सभी मतपत्रों की गिनती होने तक जारी रहेगी। उन्होंने संभावना जताई कि मतगणना प्रक्रिया पूरा होने में लगभग दो दिन का समय लग सकता है। राज्‍य निर्वाचन आयोग द्वारा जारी आंकड़ों के मुताबिक राज्य के सभी 75 जिलों की मतगणना में जिला पंचायत सदस्य, क्षेत्र पंचायत सदस्य, ग्राम पंचायत प्रधान और ग्राम पंचायत सदस्य के पदों के लिए कुल 12, 89, 830 उम्मीदवारों की तकदीर का फैसला होगा।आयोग के अनुसार जिला पंचायत सदस्य के सात, क्षेत्र पंचायत सदस्य के 2,005, ग्राम पंचायत प्रधान के 178 और ग्राम पंचायत सदस्य के 3,17,127 उम्मीदवार निर्विरोध निर्वाचित हो चुके हैं। इस प्रकार राज्य में चारों चरणों के चुनाव क्षेत्रों से कुल 3,19, 317 उम्मीदवार निर्विरोध निर्वाचित घोषित किये जा चुके हैं। उत्तर प्रदेश के 75 जिलों में चार चरणों में त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव के मत डाले गये। पहले चरण में 15 अप्रैल, दूसरे में 19 अप्रैल, तीसरे में 26 अप्रैल और चौथे चरण में 29 अप्रैल को मतदान संपन्न हुआ। राज्‍य में चारों चरणों में ग्राम पंचायत प्रधान के 58,194, ग्राम पंचायत सदस्य के 7,31,813, क्षेत्र पंचायत सदस्य के 75,808 तथा जिला पंचायत सदस्य के 3,051 पदों के लिए मत डाले गये हैं।
वापसी